नम त्सो

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
नम त्सो
Nam Tso.png
भौगोलिक नक़्शा, जिसमें ल्हासा लाल लक़ीर के अन्दर का क्षेत्र है
स्थानदमझ़ुंग ज़िला / पलगोन ज़िला, तिब्बत (जनवादी गणतंत्र चीन)
निर्देशांक30°42′N 90°33′E / 30.700°N 90.550°E / 30.700; 90.550निर्देशांक: 30°42′N 90°33′E / 30.700°N 90.550°E / 30.700; 90.550
प्रकारखारी झील
मुख्य अन्तर्वाहतंग्गुला पर्वतों की बर्फ़ और चश्में
मुख्य बहिर्वाहसालवीन नदी
द्रोणी देशतिब्बत (जनवादी गणतंत्र चीन)
अधिकतम लम्बाई70 किमी
अधिकतम चौड़ाई30 किमी
सतही क्षेत्रफल1,920 कि॰मी2 (740 वर्ग मील)
औसत गहराई33 मीटर
अधिकतम गहराई125 मी॰ (410 फीट)[1]
जल आयतन768 अरब घन मीटर
सतही ऊँचाई4,718 मी॰ (15,479 फीट)
द्वीप5

नम त्सो (तिब्बती: གནམ་མཚོ་, अंग्रेज़ी: Namtso) या नमत्सो, जिसे मंगोल भाषा में तेन्ग्री नोर (Tengri Nor, अर्थ: तेन्ग्री/स्वर्ग की झील) भी कहते हैं, तिब्बत की एक पर्वतीय झील है। यह तिब्बत के ल्हासा विभाग के दमझ़ुंग ज़िले और नगछु विभाग के पलगोन (बैनगोइन) ज़िले की सरहद पर स्थित है। इसका पानी खारा है। लगभग १५,००० फ़ुट पर स्थित यह झील दुनिया की सबसे ऊँची खारी झील है और चिंगहई झील के बाद तिब्बत के पठार की दूसरी सबसे बड़ी झील है।[2]

भूगोल व मौसम[संपादित करें]

चिंगहई झील के बाद नमत्सो तिब्बत के पठार की दूसरी सबसे बड़ी झील है। १९५० में तिब्बत पर क़ब्ज़ा करने के बाद चीन की सरकार ने प्रशासनिक रूप से उसका विभाजन कर दिया इसलिए अब चिंगहई झील औपचारिक रूप से तिब्बत स्वशासित प्रदेश में नहीं बल्कि चिंगहई प्रान्त में आती है। इस कारणवश नमत्सो तिब्बत स्वशासित प्रदेश की सबसे बड़ी झील भी कहलाती है।

नमत्सो में पाँच द्वीप हैं लेकिन इनपर कोई नहीं रहता। इनके अलावा कुछ पत्थर की चट्टानें भी सतह से ऊपर दिखती हैं। सर्दियों में झील की सतह पर बर्फ़ की मोटी तह जम जाती है जिसपर चलकर द्वीपों तक जाना सम्भव हो जाता है। अक्सर तिब्बती बौद्ध तीर्थयात्री अपना खाना साथ ले जाकर इन द्वीपों पर जाकर ध्यान लगाते हैं। पुराने ज़माने में कुछ भिक्षु पूरी गरमी-भर बर्फ़ पिघलने के बाद कई महीने द्वीपों पर ही कठिन परिस्थितियों में रहते थे लेकिन अब चीनी सरकार ने यह प्रथा वर्जित कर दी है।

नमत्सो का सबसे बड़ा द्वीप झील के पश्चिमोत्तरी कोने में है और २,१०० मीटर लम्बा और ८०० मीटर चौड़ा है। झील की सतह की तुलना में द्वीप के बीच में १०० मीटर (३३० फ़ुट) की उँचाई है। यह द्वीप झील के छोर से लगभग ३.१ किमी दूर है। झील का सबसे दूर-दराज़ टापू झील के किनारे से लगभग ५.१ किमी दूर है। द्वीपों पर गर्मियों में भिन्न घासें उगी होती हैं और कुछ पक्षी वहाँ जाकर ठहरते हैं।

न्येनचेन थंगल्हा पर्वतमाला के क्षेत्र में मौसम अचानक बदल जाता है। इसलिये झील के इलाक़े में कभी-कभी यकायक बर्फ़बारी होनी शुरु हो जाती है।

कुछ चुनी तस्वीरें[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Chinese, German scientists record new depth of Nam Co Lake
  2. Alone, But Never Lonely: A Year of Borders, Beds, and Backpacks, Suzanne Anthony, pp. 79, iUniverse, 2008, ISBN 9780595618187, ... At an altitude of 15,000 feet, Namtso, meaning Heavenly Lake, is the highest saltwater lake in the world and the second largest in China ...