सामग्री पर जाएँ

धधरवाला

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से

ढाढरवाला एक गांव छोटा सा है जो भारतीय राज्य राजस्थान तथा जोधपुर ज़िले के घटिंयाली तहसील में स्थित है।

ढाढरवाला का इतिहास।

यहां के एक महान् कवि उमरदान जी लालस हुवै है।

ऊमरदान लेस[संपादित करें]

  • 1851-1903
  • मारवाड़

राजस्थानी रा पाला जनकवि। रचनावां में सामाजिक व्याकरण साथै शास्त्रशास्त्र, ऐतिहासिकता अ आध्यात्मिकता रो त्रिवेणी संगम मिंगै आवै। पाखंड, कुरीतियों अर नशै माथै चोट करते हुए जागरण रो उद्घोष करियो। दयानंद सरस्वती सूंप्रभावित

जिनका लिखित ग्रंथ उमरकाव्य प्रसिद्ध है।

यहां पर भगवान महादेव जी करणी माता जी। हनुमान जी, नखतेश बना का मंदिर है।

ढाढरवाला गांव के ज्यादातर लोग खेती पर निर्भर करते है इस कारण रोजगार का साधन ही यही है।

ढाढरवाला में एक उच्च माध्यमिक विद्यालय है और 2 प्राथमिक विद्यालय है।

यहां पर एक निजी विद्यालय भी है।

यहां पर सभी जाति वर्ग के लोग मिलजुल कर रहते हैं।

२०११ की भारतीय राष्ट्रीय जनगणना के अनुसार गांव की जनसंख्या १५२२ [1] है।

सन्दर्भ[संपादित करें]