द्विध्रुवी चुम्बक

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
द्विध्रुवी चुम्बक (ऐडवांस फोटॉन सोर्स, यूएसए)
द्विध्रुवी चुम्बक का योजनामूलक चित्र : पीला : धारीवाही कुण्डली, आसमानी : लोहे की कोर

द्विध्रुवी चुम्बक कण त्वरकों में काम में आने वाला एक विद्युतचुम्बक है जो कुछ दूर तक एकसमान चुम्बकीय क्षेत्र पैदा करता है। इसका उपयोग गतिमान आवेशित कणों को अपने मार्ग से मोड़ने के लिए किया जाता है। एक के बाद एक करके कई द्विध्रुवी चुम्बकों का प्रयोग करके आवेशित कणपुंज (particle beam) को मोड़कर एक 'वृत्तीय पथ' पर बनाए रखा जा सकता है।

द्विध्रुवी चुम्बक के अन्य उपयोग[संपादित करें]

ये भी देखें[संपादित करें]