टोक्यो खाड़ी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

निर्देशांक: 35°31′21″N 139°54′34″E / 35.522577°N 139.909570°E / 35.522577; 139.909570

टोक्यो खाड़ी
東京湾
Tōkyō-wan
Tokyobay landsat.jpg
टोक्यो खाड़ी का सेटेलाईट छायाचित्र
स्थान होन्शू, जापान
निर्देशांक 35°25′N 139°47′E / 35.417°N 139.783°E / 35.417; 139.783
नदी स्रोत आरा नदी
ईडो नदी
ओबित्सु नदी
योरो नदी
सागर/समुद्र स्रोत प्रशांत महासागर
तटवर्ती क्षेत्र व देश जापान
सतही क्षेत्र 1,500 वर्ग किलोमीटर (580 वर्ग मील)
औसत गहराई 40 मीटर (130 फीट)
अधिकतम गहराई 70 मीटर (230 फीट)
द्वीप सारूशीमा
तटवर्ती नगर टोक्यो, कावासाकी, चीबा, योकोहामा

टोक्यो खाड़ी (जापानी: 東京湾 Tōkyō-wan), जापान के दक्षिणी कांटो क्षेत्र में स्थित एक खाड़ी है, और टोक्यो, कानागावा प्रांत, और चिबा प्रांत के तटों में फैला हुआ हैं। टोक्यो खाड़ी उरागा चैनल द्वारा प्रशांत महासागर से जुड़ा हुआ हैं। इसका पुराना नाम ईडो खाड़ी (江戸湾 ईडो-वान) था। टोक्यो खाड़ी क्षेत्र, जापान में सबसे अधिक आबादी वाला और सबसे बड़ा औद्योगिक क्षेत्र है।[1][2][3][4][5]

नामकरण[संपादित करें]

प्राचीन समय में, जापान में टोक्यो खाड़ी को ऊची-उमि (内海) या "आंतरिक समुद्र" के रूप में जानते थे, अजुची-मोमोयामा काल (1568-1600) में इस क्षेत्र को ईडो खाड़ी के रूप में जाना जाने लगा, जोकि पास स्थित ईडो शहर से लिया गया था। 1868 में, शाही अदालत को ईडो में लाया गया और शहर को टोक्यो नाम दिया गया, जिसके कारण खाड़ी को अपना आधुनिक टोक्यो खाड़ी नाम मिला।[6]

इतिहास[संपादित करें]

टोक्यो खाड़ी में यूएसएस 'मिसौरी' पर अमेरिकी विमान, 2 सितंबर, 1945

टोक्यो खाड़ी पेरी खोजयात्रा का एक स्थल था, जिसमें कॉमोडोर मैथ्यू पेरी (1794 - 1858) द्वारा संयुक्त राज्य और जापान के बीच 1853 से 1854 में दो अलग-अलग यात्राएं शामिल थीं। पेरी ने अपने चार "ब्लैक शिप्स" के साथ 8 जुलाई, 1853 को ईडो खाड़ी में पहुचाँ और 1854 में टोकुगावा शोगुनेट (टोकुगावा राजवंश) के साथ संयुक्त राज्य और जापान के बीच शांति और व्यापार संधि की वार्ता शुरू की।[7][8] कमोडोर पेरी के जहाजों में से एक का झंडा नौसेना अकादमी संग्रहालय से भेंट किया गया था और समारोह में प्रदर्शित किया गया था।

द्वितीय विश्व युद्ध के अंत में जापान द्वारा समर्पण के पत्र पर 2 सितंबर, 1945 को टोक्यो खाड़ी में खड़े यूएसएस मिसौरी (बीबी -63) पर हस्ताक्षर किए गए।

भूगोल[संपादित करें]

टोक्यो खाड़ी, प्रमुख रूप से कांटो के मैदान क्षेत्र में आता हैं।[4] यह चीबा प्रान्त के बौस्को प्रायद्वीप द्वारा पूर्व में और पश्चिम में कानागावा प्रांत के मिउरा प्रायद्वीप से घिरा हुआ हैं।[1][2] इस प्रकार यहाँ का क्षेत्रफल लगभग 922 वर्ग किलोमीटर (356 वर्ग मील) हैं।[4][5] टोक्यो खाड़ी के तट में जल निकासी तलछट के पठार बन जाते है हलांकि यह तेजी से बनते बिगड़ते रहते हैं। खाड़ी के किनारे पर स्थित तलछट एक चिकनी, सतत तटरेखा बनाती हैं। टोक्यो खाड़ी का क्षेत्र उरागा चैनल के माध्यम से समुद्र से जुड़ता हैं,[5] इस प्रकार इसका कुल क्षेत्रफल बढ़ कर 1,500 वर्ग किलोमीटर (580 वर्ग मील) हो जाता हैं। [3][4][5]

चिबा प्रांत के केप फुट्सु और योकोहामा प्रांत के केप मानमुक के बीच का छिछला खाड़ी क्षेत्र, नकानोस के रूप में जाना जाता हैं, और इसकी गहराई 20 मीटर (66 फीट) हैं।[5] इस क्षेत्र के उत्तर में खाड़ी की गहराई 40 मीटर (130 फीट) की और पानी के नीचे एक सपाट स्थलाकृति है। नकानोस के दक्षिण में प्रशांत महासागर की ओर गहराई बढ़ती जाती हैं।


टोक्यो खाड़ी में कई नदियाँ आकर मिलती हैं, और सभी खाड़ी के आस-पास के आवासीय और औद्योगिक क्षेत्रों को जल प्रदान करती हैं। उनमें से टेमा नदी और सुमिदा नदी, टोक्यो में खाड़ी से मिलती हैं।.[3] ईडो नदी, टोक्यो और चिबा प्रान्त के बीच टोक्यो खाड़ी में मिलती है। वहीं ओबित्सु नदी और योरो नदी, चिबा प्रांत में खाड़ी से मिलती हैं।

ओडेइबा द्वीप से उत्तरी टोक्यो के बीच स्थित पुल का दृश्य

टोक्यो खाड़ी एक्वा-लाइन पुल-सुरंग, कावासाकी और किसेराजू को आपस में जोड़ती है; टोक्यो-वान फेरी भी उरुगा चैनल की ओर कूरामा (योकोसुका में) और कानाया (चिबा प्रांत में फफतुसू में) को आपस जोड़ती है।

क्रम-विकास[संपादित करें]

टोक्यो खाड़ी, मछली पकड़ने के उद्योग का एक ऐतिहासिक केंद्र रहा हैं, यह शेलफिश का एक स्रोत और अन्य जलीय कृषि का केन्द्र भी रहा हैं। 20वीं शताब्दी तक टोक्यो खाड़ी क्षेत्र के औद्योगीकरण के साथ ही इन उद्योगों में कमी आती गई, और दुसरे विश्व युद्ध के बाद केहिन और केयो औद्योगिक क्षेत्र के निर्माण के साथ ही लगभग पूरी तरह से समाप्त हो गई।[1]

जापान के सबसे महत्वपूर्ण बंदरगाह टोक्यो खाड़ी में स्थित हैं।[1] योकोहामा बंदरगाह, चीबा बंदरगाह, टोक्यो बंदरगाह, कावासाकी बंदरगाह, योकोसुका बंदरगाह, किसाराजु बंदरगाह, न केवल जापान के बल्कि एशिया-प्रशांत क्षेत्र के सबसे व्यस्त बंदरगाह हैं। योकोसुका के बंदरगाह में जापानी समुद्री स्व-रक्षा बल और संयुक्त राज्य नौसेना की एक चौकी स्थित हैं।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "टोक्यो खाड़ी". Encyclopedia of Japan। (2012)। Tokyo: Shogakukan। अभिगमन तिथि: 2012-07-30
  2. "東京湾". Dijitaru Daijisen। (2012)। Tokyo: Shogakukan। अभिगमन तिथि: 2012-07-30
  3. "東京湾". Nihon Kokugo Daijiten। (2012)। Tokyo: Shogakukan। अभिगमन तिथि: 2012-07-30
  4. "千葉県:総論 > 東京湾". Nihon Rekishi Chimei Taikei। (2012)। Tokyo: Shogakukan। dlc 2009238904। अभिगमन तिथि: 2012-07-30
  5. "東京湾". Nihon Daihyakka Zensho (Nipponika)। (2012)। Tokyo: Shogakukan। अभिगमन तिथि: 2012-07-30
  6. "神奈川県:総論 > 東京湾". Nihon Rekishi Chimei Taikei। (2012)। Tokyo: Shogakukan। dlc 2009238904। अभिगमन तिथि: 2012-07-30
  7. "Perry Ceremony Today; Japanese and U. S. Officials to Mark 100th Anniversary." New York Times. July 14, 1953,
  8. "ペリー". Nihon Daihyakka Zensho (Nipponika)। (2012)। Tokyo: Shogakukan। अभिगमन तिथि: 2012-08-15