टेड बन्डी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
टेड बन्डी

टेड बन्डी (24 नवंबर 1946 - जनवरी 24 1989) एक अमेरिकी सीरियल किलर, अपहरणकर्ता, बलात्कारी और चोर था. 1970 के दशक में इस कमीने ने कई युवा औरतों और लड़कियों की इज़्ज़त लूटी और उनका कत्ल कर दिया.

बचपन[संपादित करें]

टेड का असली नाम थिओडोर रॉबर्ट कॉवेल है. वह 1946 में लुइस नामक बिन ब्याही माँ को पैदा हुआ था. उसके बाप का कुछ अता-पता नहीं था, और उसने बचपन के तीन साल अपने नाना-नानी के घर बिताए. नानाजी बड़े ही दुराचारी आदमी थे, जो नानीजी की जमकर पिटाई किया करते थे और कुत्ते-बिल्लियों पर अत्याचार करते थे. एक बार नानाजी ने टेड की मौसी जूलिया को ज़्यादा सोने के लिए सीढ़ियों से नीचे फेक दिया. वे अक्सर मनगढंत लोगों से बातचीत भी करते थे. ऐसे सरफिरे के साथ रहकर बाल टेड का दिमाग भी सटक गया. बचपन से ही वह उल्टी-सीधी हरकतें करने लगा. एक बार वह रसोई से चक्कू लेकर अपनी मौसी जूलिया के बिस्तर के पास पहुँच गया. जब जूलिया की नींद खुली, तो उसने देखा कि तीन-वर्षीय टेड हाथ में चाकू लेकर उसके सामने मुस्कुरा रहा था.[1]

पढ़ाई-लिखाई[संपादित करें]

1950 में लुइस टेड को लेकर अपने चचेरे भाई-बहन एलन और जेन के घर रहने वाशिंगटन चली आई. अगले साल उसने जॉनी कुलपेप्पर नाम के बावर्ची और गवैये से शादी कर ली. इस तरह टेड का सरनेम बन्डी पड़ गया. लुइस और जॉनी ने चार बच्चे पैदा किये, पर टेड अपने सौतले भाई-बहनों के ज़्यादा घुल-मिल ना पाया.[2] किशोरावस्था से ही से ही बलात्कार दर्शाने वाली पत्रिकाएं, उपन्यास और फ़िल्में पसंद थीं. शराब पीकर वह मोहल्ले की खिड़कियों में झाँक कर कपड़े उतारती हुई औरतों को देखता रहता था. कचरे के डब्बों में वह नंगी तस्वीरों को भी खोजता रहता था.[3] स्कूल के दौरान उसे चोरी करने के लिए दो बार गिरफ्तार किया गया. पर 18 साल का होने पर नियमानुसार उसका आपराधिक रिकॉर्ड मिटा दिया गया.[2]

कॉलेज में टेड को उसकी गर्लफ्रेंड ने ठुकरा दिया, जिसका उसके दिमाग पर गहरा असर पड़ा.[4] कुछ समय बाद उसने वाशिंगटन के गवर्नर डेनियल इवान्स के चुनाव अभियान में अच्छा काम कर के राज्य की रिपब्लकिन पार्टी में सहायक का काम ले लिया. उसे लॉ स्कूल में बी एडमिशन मिल गया, और अपनी कॉलेज वाली गर्लफ्रेंड भी वापस मिल गयी. साथ ही साथ उसने एलिज़ाबेथ क्लोएपफेर नाम की एक तलाकशुदा स्त्री से भी प्रेम सम्बन्ध बना लिए. पर जनवरी 1974 में टेड ने अपनी प्रेमिकाओं से बिना कुछ बताए संपर्क तोड़ दिया, और लॉ स्कूल जाना भी बंद कर दिया. कुछ समय बाद आस-पास के इलाकों में लडकियां गायब होने लगीं.[5]

काली करतूतें[संपादित करें]

अपराधों के लिए ये सारी चीज़े इस्तेमाल करता था टेड बन्डी

हालांकि टेड के अपराधों के सबूत 1974 से मिलाने शुरू होते हैं, कुछ लोगों का मानना है की उसने 1961 में 14 साल की उम्र में आठ-वर्षीय ऐन मेरी बर्र का कत्ल किया था. गिरफ्तार होने के बाद टेड ने इस गुनाह को कबूल नहीं किया. टेड ने मनोविज्ञानी आर्ट नार्मन को बताया कि उसने पहली बार 1969 में अटलांटिक सिटी में दो औरतों को मार था. दूसरी ओर अपने वकील पॉली नेल्सन को उसने बताया कि 1971 में पहली बार उसने किसी का कत्ल किया था.[4]

4 जनवरी 1974 की रात टेड 18-वर्षीय कैरेन स्पार्क्स नामक स्टूडेंट और डांसर के घर में घुस गया. सोती हुई कैरेन को उसने एक धातु की छड़ से मारा और फिर उसी छड़ से उसका बलात्कार कर दिया. बेचारी कैरेन 10 दिन तक बेहोश रही और फिर पूरे जीवन के लिए विकलांग हो गयी. 1 फरवरी को यह दरिंदा लिंडा ऐन हीली नामक स्टूडेंट के घर खुस गया. उसने लिंडा को मारकर बेहोश कर दिया, और फिर उसके शरीर पर कुछ कपड़े डालकर उसे किसी सूनी जगह पर ले गया.[2]

अगले कुछ महीनों में आस-पास के इलाके में कई लडकियां गायब होने लगीं, और मीडिया में अर्फातर्फी मच गयी. विडम्बना यह थी कि टेड सरकारी आपातकालीन सेवा विभाग में काम करने लगा था - गुमशुदा लड़कियों के मामले यही विभाग निपटाता था. कुछ महीनों बाद जंगलों में गुमशुदा लड़कियों की लाश पाई गयी. स्थानीय लोगों से पूछताछ करने के बाद पुलिस ने संदिग्ध अपराधी का एक स्केच और विस्तृत वर्णन तैयार किया. स्केच और विवरण देखने के बाद चार औरतों ने टेड पर उंगली साधी. यह चार औरतें थीं :- महिला पुलिस अधिकारी ऐन रूल, आपातकालीन सेवा विभाग की एक कर्मचारी, वाशिंगटन यूनिवर्सिटी में मनोविज्ञान की एक प्रोफेसर और टेड की छमिया एलिज़ाबेथ क्लोएपफेर. पर पुलिसवालों ने इन चार महिलाओं के इल्ज़ामों को नज़रअंदाज़ कर दिया. ऐसा नहीं था कि पुलिसवाले पूरे भोंदू थे, बात यह थी कि उनके पास हर दिन लगभग 200 संदिग्ध लोगों के नाम आते थे. ऐसे में उन्हें लगा कि टेड जैसा सीधा-साधा लॉ स्कूल में पढ़ने वाला और सरकारी विभाग में काम करने वाला कोई सीरियल किलर नहीं हो सकता।[1]

अगस्त 1974 में टेड को यूटा यूनिवर्सिटी के लॉ स्कूल में एडमिशन मिल गया. उसके यूटा जाते ही यूटा राज्य में भी जवान लड़कियों के बालतकार और कत्ल के मामले सामने आने लगे. कई साल बाद गिरफ्तार होने के बाद सरफिरे टेड ने पुलिस को बताया कि वह जंगल में जाकर मेलिसा स्मिथ और लौरा ऐमी की लाशों पर मेकअप करता था और उनके बालों को शैम्पू से धोता था.[5] नवम्बर 1974 में जब टेड की छमिया एलिज़ाबेथ ने यूटा की घटनाओं के बारे में सुना, तो उसने एक बार फिर वाशिंगटन पुलिस से कहा कि उसे टेड पर शक है. पुलिस ने टेड को कुछ गवाहों के सामने पेश किया, पर ये मूर्ख गवाह उसे पहचानने में नाकामयाब रहे. दिसंबर में एलिज़ाबेथ यूटा पुलिस के पास चुगली करने जा पहुँची, पर यूटा पुलिस भी टेड के खिलाफ सबूत जुटाने में विफल रही.[2]

1975 में टेड कोलोराडो राज्य में घिनोनी हरकतें करने लगा. वह सार्वजनिक स्थानों पर विकलांगता को ढोंग रचाकर या फिर अपने आप को सरकारी अफसर बताकर लड़कियों को फुसलाता था. फिर उन्हें किसी सूनी जगह पर ले जाकर सताता था, और उन्हें मार डालता था. अक्सर वह इन सूनी जगहों पर लौटकर लाश के साथ सेक्स करता था. ऐसा वह तब तक करता रहता था, जब तक लाश को जानवर न खा जाएं या लाश पूरी तरह से सड़ न जाए. कभी-कभी वह अपने शिकार के घर में घुसकर ही उनका कत्ल कर देता था. उसने कम से कम 12 पीड़िताओं के सर काटे थे, और इनमे से कुछ सर अपने घर पर स्मृति चिन्ह के रूप में रखे थे. टेड देखने में बड़ा हैंडसम था, जिसकी वजह से बेवकूफ लडकियां उसके जाल में फँस जाती थीं. उदाहरण के तौर पर 26 वर्षीय जूली कन्निन्घम को ले लीजिए. 15 मार्च 1975 को टेड बैसाखी लेकर उसके पास पहुंचा, और अपने आप को विकलांग बताकर कुछ सामान कार तक ले जाने के लिए उसकी मदद मांगने लगा. भोली-भाली जूली जैसे ही कार तक पहुँची, टेड ने उसके हाथों में हथकड़ी लगा दी, और एक सूनी जगह पर ले जाकर उसके साथ दुराचार कर उसे मार दिया.[6] छोटी-छोटी बच्चियां भी इस राक्षस की बुरी नीयत से न बच पायीं. अब लायनेट डॉन कल्वर को ही ले लीजिए... 12 साल की इस नाबालिग लड़की को टेड ने स्कूल से अगवा कर लिया. फिर उसे एक होटल में ले जाकर पानी में डुबाया और उसकी इज़्ज़त लूट ली. बाद में उसे मारकर उसका शव एक नदी में डाल दिया. अगस्त-सितंबर के दौरान टेड ने एक चर्च में जाकर बपतिस्मा ले लिया, हालांकि वह कभी चर्च में ज़्यादा सक्रिय नहीं रहा.[5]

गिरफ्तारी[संपादित करें]

टेड की फॉक्सवैगन कार

जब बढ़ते अपराधों से प्रताड़ित जनता चीखने-चिल्लाने लगी तो पुलिस ने संदिग्थ लोगों की कई सूचियां बनाई. जैसे कि कुछ गवाहों ने बताया था कि अपराधी फॉक्सवैगन कार चलाते देखा गया था, तो पुलिस ने इलाके के सभी फॉक्सवैगन मालिकों की लिस्ट बनाई. कुछ गवाहों ने बताया था कि गायब हुई लड़कियों को टेड नामक एक अजनबी के साथ देखा गया था, तो पुलिस ने टेड नाम वाले सभी लोगों की लिस्ट बनाई. ऐसी चार लिस्टों में टेड बन्डी का नाम सामने आया.[7]

16 अगस्त 1975 को यूटा हाईवे पर अपनी फॉक्सवैगन कार में जाते वक्त टेड एक रूटीन ट्रैफिक स्टॉप पर नहीं रुका. इसलिए उसे एक हाईवे पैट्रॉल करने वाले पुलिस अफसर ने गिरफ्तार कर लिया. कार की तलाशी लेते वक्त पुलिसवाले ने देखा कि टेड की कार में कई संदेहजनक चीज़े थीं, जैसे कि लड़कियों का अंडरवियर, हथकड़ियां, मास्क, रस्सी, हथियार-जैसे औज़ार आदि. पर्याप्त सबूत न होने के की वजह से टेड को रिहा कर दिया गया, पर पुलिस ने उस पर कड़ी निगाह रखनी शुरू कर दी.[1]

सितंबर में जब टेड ने अपनी कार एक किशोर को बेची तो पुलिस ने कार को ज़ब्त कर लिया, और एफबीआई द्वारा उसकी जांच करवाई. इस जांच-पड़ताल में कुछ अगवा की गयी लड़कियों के बाल मिले. इनमें से एक लड़की थी कैरोल डारोँच, जो 1974 में टेड से मिली थी. टेड ने अपने आप को रोज़लैंड नाम का एक पुलिस अफसर बताकर कैरोल को हथकड़ी पहना दी थी, पर कैरोल किसी तरह उसके चंगुल से बच निकली थी. गांधी जयन्ती के दिन 2 अक्टूबर को पुलिस ने टेड को कैरोल के सामने पेश किया, और कैरोल ने उसे झट से पहचान लिया. चूँकि टेड के खिलाफ अन्य मामलों में कोई ठोस सबूत नहीं थे, उसकी माँ और उसके सौतेले बाप ने उसे 15,000 डॉलर की ज़मानत देकर छुड़वा लिया. 23 फरवरी 1976 के दिन उसका केस अदालत में आया, और कैरोल का अपहरण करने के लिए उसे 15 साल की सज़ा मिली.[2]

पलायन[संपादित करें]

मार्गरेट बोमैन और लिसा लेवी

इस हैवान को यूटा की जेल में रखा गया, पर जेलर इतने ढीले थे कि यह दुष्ट दो बार जेल से फरार होने में सफल हो गया. दूसरी बार भागने के बाद यह फ्लोरिडा जा पहुंचा. 15 जनवरी 1978 को एक खराब ताले के चलते फ्लोरिडा यूनिवर्सिटी के गर्ल्स हॉस्टल में जा घुसा. पहले तो इसने रात के 2:45 बजे 21 वर्षीय मार्गरेट बोमैन को एक लकड़ी के टुकड़े से मारा, और फिर एक जुराब से उसका गला घोंट दिया. यह दुष्कर्म करने के बाद वह 20 वर्षीय लिसा लेवी के कमरे में घुस गया, और उसे मार-मार कर बेहोश कर दिया. फिर उसने बेचारी लिसा की एक चूची तोड़ कर शरीर से अलग कर दी और एक बोतल से उसका बलात्कार कर दिया. अब वह कैथी क्लीनर के कमरे में जा पहुंचा, जहां उसने अबला नारी का जबड़ा तोड़ दिया, और फिर उसके कंधे को चीर दिया. इसके बाद उसने कैरेन चैंडलर के दांत और उंगली तोड़ दी, और सर पर चोट मार कर उसे घायल कर दिया. 15 मिनट में यह चार काण्ड करके भी इस दानव के मन को शान्ति न मिली. वह कुछ दूर एक घर में जा पहुंचा, जहां उसने चेरिल थॉमस नामक एक स्टूडेंट की हड्डी-पसली एक कर दी. चेरिल एक डांसर बनना चाहती थी, पर उसकी टेड ने उसकी खोपड़ी, कन्धा और जबड़ा तोड़कर उसका यह सपना हमेशा के लिए मिटा दिया. इस हमले के कारण बेचारी चेरिल पूरी ज़िंदगी के लिए बहरी हो गयी.[2]

8 फरवरी को अपनी हैवानियत की प्यास बुझाने यह हवस का पुजारी एक 14 साल की लड़की के पास जा पहुंचा. अपने आप को एक पुलिस अफसर बताकर इसने उस बच्ची को फुसलाने की कोशिश की, पर तभी बच्ची का बड़ा भाई आ गया. जब भाई ने पूछ-ताछ करनी शुरू की, तो टेड दुम दबा कर भाग गया. पर दोपहर को उसने 12 वर्षीय किम्बर्ली डीएन लीच को एक स्कूल से अगवा कर लिया, और उसके साथ ज़ोर-ज़बरदस्ती करके उसका काम तमाम कर दिया.[8]

अंत[संपादित करें]

12 फरवरी 1978 को टेड फ्लोरिडा में एक कार चुरा कर भागा, पर तीन दिन बाद ही उसे डेविड ली नामक पुलिस अफसर ने कर चुराने के जुर्म में पकड़ लिया. बाद में डेविड को पता चला कि उसका बंदी कुख्यात अपराधी टेड बन्डी है.[1]

1979 में टेडासुर को अदालत में पेश किया गया, और उसपर कई केस चले. 1989 में उसे बिजली की कुर्सी से सज़ा-ए-मौत मिली. पुलिस के अनुसार उसे अपने अपराधों की गंभीरता का ज़रा भी अहसास नहीं था.[5]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Rule, Ann (2000). The Stranger Beside Me (Paperback; updated 20th anniversary सं॰). New York: Signet. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0-451-20326-7. 
  2. Rule, Ann (2009). The Stranger Beside Me (Paperback; updated 2009 सं॰). New York: Pocket Books. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 1-4165-5959-0. 
  3. Michaud, Stephen; Aynesworth, Hugh (October 1989). Ted Bundy: Conversations with a Killer (Paperback सं॰). New York: Signet. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0-451-16355-4. 
  4. Nelson, Polly (1994). Defending the Devil: My Story as Ted Bundy's Last Lawyer. New York: William Morrow. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0-688-10823-6. 
  5. Michaud, Stephen; Aynesworth, Hugh (August 1999) [1983]. The Only Living Witness: The True Story of Serial Sex Killer Ted Bundy (Paperback; revised सं॰). Irving, Texas: Authorlink Press. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-1-928704-11-9. https://books.google.com/books?id=rO5IdAhFw_YC&lpg=PA1&pg=PA1#v=onepage&q&f=false. 
  6. Keppel 2010Keppel, Robert (2010). The Riverman: Ted Bundy and I Hunt for the Green River Killer (Kindle सं॰). New York: Simon & Schuster. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-1-4391-9434-8. 
  7. Keppel 2005
  8. Rule, Ann (1989). The Stranger Beside Me (Paperback; revised and updated सं॰). New York: Signet. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0-451-16493-3.