ज्वालामुखीय द्वीप

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
भारत के अंडमान द्वीपसमूह का नर्कोन्डम द्वीप एक ज्वालामुखीय द्वीप है

ज्वालामुखीय द्वीप (volcanic island) ऐसा द्वीप होता है जो किसी ज्वालामुखी के फटने से निकले हुए पत्थर व चट्टानों से उभरकर पानी की सतह से ऊपर निकल आए। ऐसे द्वीपों की ऊँचाई अक्सर अवसादन (सेडिमेन्टेशन) या मूँगे (कोरल) द्वारा बने द्वीपों से अधिक होती है, इसलिये इन्हें कभी-कभी ऊँचे द्वीप (high islands) भी कहा जाता है। इन द्वीपों को बनाने वाले ज्वालामुखी अक्सर द्वीप पर देखे जा सकते हैं हालांकि कभी-कभी वे मृत होते हैं या वायु-जल के प्रभाव से घिसे और वनस्पतियों से ढके जा चुके होते हैं।[1]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]