जैव ऊर्जिकी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

जैव ऊर्जिकी (या, जैव और्जिकी, या जैव ऊर्जाविज्ञान / bioenergetics), जैवरसायन एवं कोशिका विज्ञान का एक उपक्षेत्र है जो जैविक निकायों (living systems) के माध्यम से होने वाले ऊर्जा परिवर्तनों (energy flow) का अध्ययन करता है। वर्तमान में इस विषय पर अनुसन्धान कार्य किए जा रहे हैं जैसे जीवधारियों में ऊर्जा का रूपान्तरण, उन हजारों कोशिकीय प्रक्रियाओं का अध्ययन जिनके द्वारा ऊर्जा का उत्पादन या उपयोग (खपत) होती है। अर्थात्, जैव ऊर्जिकी का लक्ष्य इस बात की व्याख्या करना है कि जीवधारी किस प्रकार से ऊर्जा प्राप्त करते है या ऊर्जा का रूपान्तरण करते हैं। दूसरे शब्दों में, उपापचय की प्रक्रिया का अध्ययन, जैव ऊर्जिकी का सबसे महत्वपूर्ण कार्य है।