जेट इंजन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
जेट इंजन

जेट इंजन रॉकेट के सिद्धांत पर कार्य करने वाला एक प्रकार का इंजन है। आधुनिक विमान मुख्यतः जेट इंजन का ही प्रयोग करते है। रॉकेट और जेट इंजन का कार्य करने का सिद्धांत एक ही होता है लेकिन इस दोनो मे अंतर केवल यह है कि जहाँ रॉकेट अपना ईंधन स्वयं ढोता है जेट इंजन आस पास की वायु को ही ईंधन के रूप मे उपयोग करता है। इसिलिये जेट इंजन पृथ्वी के वातावरण से बाहर जहाँ वायु नही होती है, काम नही कर सकते। अंग्रेजी मे इन्हे 'एयर ब्रिदिन्ग इंजन' (air breathing engine) कहा जाता है जिसका शाब्दिक अर्थ "वायु मे साँस लेने वाला/वाले इंजन" है।

प्रकार[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  • Brooks, David S. (1997). Vikings at Waterloo: Wartime Work on the Whittle Jet Engine by the Rover Company. Rolls-Royce Heritage Trust. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 1-872922-08-2.
  • Golley, John (1997). Genesis of the Jet: Frank Whittle and the Invention of the Jet Engine. Crowood Press. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 1-85310-860-X.
  • Hill, Philip; Peterson, Carl (1992), Mechanics and Thermodynamics of Propulsion (2nd संस्करण), New York: Addison-Wesley, आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 0-201-14659-2
  • Kerrebrock, Jack L. (1992). Aircraft Engines and Gas Turbines (2nd संस्करण). Cambridge, MA: The MIT Press. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0-262-11162-1.