सामग्री पर जाएँ

जानकी म ब्रह्मवर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से

जानकी एम. ब्रह्मा का [1] [2] [3] जानकी एम. ने तुलु साहित्य जगत में अपनी पहचान बनाई। ब्रह्मा का। तुलु भाषा में उनका योगदान बहुत बड़ा है। वह एक त्रिभाषी लेखिका हैं और उन्होंने अंग्रेजी, कन्नड़ और तुलु में कई लेख लिखे हैं। उन्होंने अपने लेखों में यथार्थवाद को बहुत महत्व दिया है।

अपने बड़े बेटे प्रसन्ना की असामयिक मृत्यु के दुःख को दूर करने के लिए जानकी ने लेखन का तरीका चुना। उन्होंने तुलु भाषा के माध्यम से अपनी साहित्यिक यात्रा शुरू की। वे मासिक 'तुषारा' को अपनी कविताएँ भेजा करते थे। इससे साहित्य में उनकी रुचि बढ़ी।

  1. http://www.tuluacademy.org/en/
  2. ತುಳು ಸಾಹಿತ್ಯ ಅಕಾಡೆಮಿ ಪ್ರಶಸ್ತಿ
  3. ಚಂದ್ರಗಿರಿ ನಾಡೋಜ, ಡಾ ಸಾರಾ ಅಬೂಬಕ್ಕರ್, ಅಭಿನಂಧನಾ ಗ್ರಂಥ, ಸಂಪಾದಕರು, ಡಾ ಸಬಿಹಾ ,ಸಿರಿವನ ಪ್ರಕಾಶನ, ಬೆಂಗಳೂರು ,ಪುಟ ಸಂಖ್ಯೆ ೩೫೩