जयपुर-किशनगढ़ द्रुतगामी मार्ग

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
जयपुर-किशनगढ़ द्रुतगामी मार्ग
मार्ग की जानकारी
Maintained by भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण
लंबाई: 90 कि॰मी॰ (60 मील)
इतिहास: अप्रैल २००५ में पूरा हुआ
प्रमुख जंक्शन
उत्तर अन्त: जयपुर
दक्षिण अन्त: किशनगढ़
स्थान
राज्य:राजस्थान
मुख्य नगर:जयपुर, महलां, दूदू, किशनगढ़

जयपुर-किशनगढ़ द्रुतगामी मार्ग, जिसे जयपुर-अजमेर एक्सप्रेसवे भी कहते हैं, एक ९० किलोमीटर लम्बा पहुँच नियंत्रित द्रुतमार्ग (एक्सप्रेसवे) है, जो भारतीय राज्य राजस्थान की राजधानी, जयपुर को किशनगढ़ से जोड़ता है। यह द्रुतमार्ग रा. रा. ८ का एक खण्ड है जो कि स्वर्ण चतुर्भुज परियोजना का हिस्सा है, जो अपने आप में राष्ट्रीय राजमार्ग विकास परियोजना (एन.एच.डी.पी) का एक हिस्सा है। इस एक्सप्रेसवे की चौड़ाई छह लेन है,[1] तथा इसका उद्घाटन अप्रैल, २००५ में किया गया था।[2]

निर्माण[संपादित करें]

जीवीके जयपुर एक्सप्रेसवे प्राइवेट लिमिटेड (जी.जे.ई.पी.एल) ने बिल्ड-ऑपरेट-ट्रांसफर मॉडल के तहत इस द्रुतमार्ग का निर्माण कार्य किया है। ७.२९ अरब रुपये की लागत से निर्मित यह द्रुतमार्ग,[3] सरकारी-निजी साझेदारी मॉडल के तहत निर्मित होने वाली पहली भारतीय सड़क है। [4]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. कुमार, संतोष (१ मई २०१६). "Ajmer Road, Jaipur: Likely to see increased activity due to proposed SEZ" (अंग्रेज़ी में). बिज़नेस स्टैण्डर्ड. अभिगमन तिथि 7 अक्तूबर 2017.
  2. Our Business - Transportation - The Jaipur - Kishangarh Expressway. GVK. Retrieved on 2013-12-06.
  3. L&T IDPL- GVK Jaipur-Kishangarh Expressway. Lntidpl.com. Retrieved on 2013-12-06.
  4. Rajasthan expressway: Who gets the credit? - Rediff.com Business. Inhome.rediff.com (2005-05-23). Retrieved on 2013-12-06.