जब प्यार किसी से होता है (1998 फ़िल्म)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
जब प्यार किसी से होता है
जब प्यार किसी से होता है.jpeg
जब प्यार किसी से होता है का पोस्टर
निर्देशक दीपक सरीन
निर्माता रमेश तौरानी
कुमार तौरानी
अभिनेता सलमान ख़ान,
ट्विंकल खन्ना,
जॉनी लीवर,
फरीदा ज़लाल,
सईद जाफ़री,
हिमानी शिवपुरी,
अनुपम खेर,
आदित्य नारायण,
नम्रता शिरोडकर
संगीतकार जतिन-ललित
प्रदर्शन तिथि(याँ) 22 मई, 1998
देश भारत
भाषा हिन्दी

जब प्यार किसी से होता है 1998 में बनी हिन्दी भाषा की प्रेमकहानी फ़िल्म है। फ़िल्म दीपक सरीन द्वारा निर्देशित और हनी ईरानी द्वारा लिखी गई है। फिल्म में सलमान खान को लड़कीबाज़ के रूप में दिखाया गया है और ट्विंकल खन्ना उसके पहले असली प्यार के रूप में चित्रित किया गया है। आदित्य नारायण सलमान के पहले अज्ञात बेटे का किरदार निभाते हैं। फिल्म ने अच्छा कारोबार किया था और हिट की श्रेणी में रही थी।

संक्षेप[संपादित करें]

यह फिल्म सूरज धनराजगिर (सलमान खान) समृद्ध लड़कीबाज के बारे में है जो अपने उद्योगपति दादा (अनुपम खेर) के पैसे शराब और महिलाओं पर खर्च करता है। पहली बार वह कोमल (ट्विंकल खन्ना) को देखता है। सूरज के दादाजी स्थिति को संभालते हैं और उससे शादी करने के लिए कहते हैं। कोमल इस शर्त पर सहमत हैं कि सूरज को अपनी जीवनशैली छोड़नी होगी और जिम्मेदार बनना होगा। उसे धूम्रपान करना, शराब पीना और लड़कियों के पीछे भागना छोड़ना होगा। सूरज हर बुरी आदत को छोड़ देता है।

एक दिन सूरज घर लौटता है और उसे एक लड़का, कबीर (आदित्य नारायण) मिल जाता है, जो उसका बेटा होने का दावा करता है। टेस्ट साबित करते हैं कि कबीर वास्तव में उसका बेटा है, लेकिन सूरज को उसकी मां (नम्रता शिरोडकर) भी याद नहीं है। कबीर उसे एक तस्वीर दिखाता है जो सूरज को उस महिला की पहचान करने में मदद करता है। वह लड़के को अपने दोस्त के बच्चे के रूप में कहता है। सूरज उसे पसंद करने लगता हैं और धीरे-धीरे अपनी गलती को महसूस करते हुए, वह उसे अपने बेटे के रूप में पहचानता है। लेकिन कबीर को कोमल पसंद नहीं है और यह जानकर नाखुश है कि सूरज कभी भी उसकी मां से प्यार नहीं करता था।

बाद में सूरज को कोमल और कबीर के बीच चयन करना पड़ा। सूरज कोमल से शादी करने जा रहा है, लेकिन वह जानता है कि वह कोमल से सच्चाई छुपा नहीं सकता है। वह एक दुविधा में पड़ता है। उसका दोस्त महेश (जॉनी लीवर) कहता है कि यदि वह वास्तव में उससे प्यार करता है तो उसे पहले कबीर के बारे में कोमल को सच बता देना चाहिए ।

अपने विवाह के दिन, वह अपने दादा, महेश और कबीर के साथ उसके घर पर पहुँचाता है। वह अपनी गलतियों को स्वीकार करता है और उसके परिवार को बताता है कि कबीर उसका बेटा है। यह सुनकर कोमल का परिवार नाराज हो जाता है और मांग करता है कि सूरज कबीर को अस्वीकार कर दे अगर कोमल से शादी करना चाहता है। सूरज ऐसा करने से इंकार कर देता है। कोमल सूरज की ईमानदारी की सराहना करती है और कबीर को अपने बेटे के रूप में स्वीकार करके सूरज से शादी करने के लिए सहमत होती है।

मुख्य कलाकार[संपादित करें]

संगीत[संपादित करें]

जब प्यार किसी से होता है
साउंडट्रैक जतिन-ललित द्वारा
जारी 1998
संगीत शैली फिल्म साउंडट्रैक
लंबाई 39:36
लेबल टिप्स
निर्माता जतिन-ललित
जतिन-ललित कालक्रम

ग़ुलाम
(1998)
जब प्यार किसी से होता है
(1998)
कुछ कुछ होता है
(1998)

संगीत जतिन ललित द्वारा दिया गया है और बोल आनंद बख्शी के हैं।

# शीर्षक गायक अवधि
1 "इस दिल में क्या है" लता मंगेशकर, उदित नारायण 4:41
2 "पहली पहली बार" कुमार सानु 4:32
3 "मदहोश दिल की धड़कन" लता मंगेशकर, कुमार सानु 5:26
4 "ओ जान ना जाना" लता मंगेशकर, कुमार सानु 4:25
5 "ओ जाना ये माना" लता मंगेशकर 1:11
6 "दिल में बसाके" अलका याज्ञिक और कुमार सानु 5:02
7 "एक दिल था पास मेरे" कुमार सानु और अलका याज्ञिक 5:08
8 "चल प्यार करेगी" अलका याज्ञिक और सोनू निगम 6:17

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]