चरखारी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
चरखारी
महाराजनगर
क़स्बा
उपनाम: बुन्देलखण्ड का कश्मीर
देशFlag of India.svg भारत
राज्यउत्तर प्रदेश
जिलामहोबा
ऊँचाई184 मी (604 फीट)
जनसंख्या (2001)
 • कुल23,823
भाषा
 • आधिकारिकहिंदी
समय मण्डलIST (यूटीसी+5:30)
पिनकोड210421

चरखारी (अंग्रेज़ी: Charkhari) भारतीय राज्य उत्तर प्रदेश के महोबा जिले में मौजूद एक क़स्बा है। यह इसी नाम की तहसील का मुख्यालय भी है और विधान सभा सीट का नाम भी चरखारी विधान सभा क्षेत्र है।

भूगोल[संपादित करें]

चरखारी की भूगोलीय अवस्थिति 25°24′N 79°45′E / 25.4°N 79.75°E / 25.4; 79.75 पर है[1] और यह समुद्र तल से १८४ मीटर (६०३ फीट) की ऊँचाई पर स्थित है। यह स्थान कई झीलों से घिरा हुआ है और अपनी प्राकृतिक सुंदरता के कारण "बुन्देलखण्ड का काश्मीर" कहा जाता है।[2]

इतिहास[संपादित करें]

अंग्रेजों के समय में यह एक छोटी राजशाही के रूप में मौजूद था जो भारत की आजादी के बाद अधिगृहीत कर लिया गया।यहाँ के शासकों ने ब्रिटिश राज़ के समय अंग्रेजों का साथ दिया....इस बात से क्षुब्ध तात्या टोपे द्वारा यहाँ एक बार आक्रमण किया गया जिससे घबरा कर यहाँ के राजा ने बिना युद्ध किये तात्या टोपे की सभी शर्त मान ली और चौथ दे के अपनी जान बचायी। तभी से भारत के स्वाधीनता संग्राम मे यहाँ के राज्य को जयचंद के राज्य से तुलना की जाती है। लेकिन यहाँ के राजाओं ने यहाँ कई तालाबों मंदिरों का भी निर्माण कराया। [2]

जनसांख्यिकी[संपादित करें]

2011 के अनुसार  के जनगणना के आंकड़ों के अनुसार, चरखारी नगर पालिका के अंतर्गत कुल ५,०६६ मकान थे और कुल २७,७६० लोग निवासी थे जिनमें १४,७१२ पुरुष और १३,०४८ महिलायें थीं। शून्य से छह वर्ष की आयु के अंतर्गत बच्चों की संख्या ३५५४ थी जो कुल जनसंख्या का १२% थी। चरखारी नगर पालिका में लिंगानुपात ८८७ दर्ज किया गया जो राष्ट्रीय औसत ९१२ से काफ़ी कम है। साक्षरता ७३.८ % है जो राज्य के औसत ६७.६८ % से अधिक है। पुरुष साक्षरता ८२.२४ % और महिला साक्षरता ६४.२९ % दर्ज की गयी है। [3]

संस्कृति[संपादित करें]

चरखारी में प्रसिद्द गोवर्धन जू मेला लगता है और लोगों के मुताबिक़ इसकी शुरूआत राजा मलखान सिंह ने १८८३ ई॰ में की थी।[4]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Falling Rain Genomics, Inc - Charkhari
  2. India heritage hub
  3. "चरखारी की जनसंख्या, २०११". http://www.census2011.co.in/ (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 10 जनवरी 2016. |website= में बाहरी कड़ी (मदद)
  4. "चरखारी के ऐतिहासिक महत्व को किया रेखांकित". दैनिक जागरण. 2 दिसंबर 2012. अभिगमन तिथि 10 जनवरी 2016.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

https://www.facebook.com/charkhariofficial/ Charkhari