सामग्री पर जाएँ

गौशाला

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
विश्व की पहली गौशाला(रेवाड़ी) - राजा राव युधिष्ठर सिंह यादव

गाय पालन के लिए प्रयुक्त घर गौशाला कहलाता है। हिन्दू धर्म में गाय को माता माना जाता है और उसकी हर तरह से सेवा एवं रक्षा करना पुण्य कर्म माना जाता है। भारत की पहली गोशाला रेवाड़ी में राजा राव युधिष्ठर सिंह यादव द्वारा स्थापित की गई अब भारत में बहुत गौशालाऐं हैं इन्हें संचालित करने के लिए सरकार भी धन देती है तथा गऊ प्रेमी भी दान करते हैं कुछ धनी व्यक्ति भी गौशाला चलाते हैं।

इतिहास[संपादित करें]

भारत की पहली गोशाला रेवाड़ी में राजा राव युधिष्ठर सिंह यादव द्वारा स्थापित की गई।[1][2][3][4][5][6] राजा राव युधिष्ठिर सिंह महर्षि दयानंद सरस्वती के शिष्य थे। उनकी प्रेरणा से ही भारत ही नहीं अपितु विश्व की पहली गौशाला रेवाड़ी में स्थापित की थी। स्वामी दयानंद सरस्वती ने गौ करुणा निधि नाम का लघु ग्रन्थ भी लिखा और गौ पालन के लाभ बताये।


इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

  1. Rastogi, Nawal Kishore (2002-04-27). "In stoic silence, historical tanks of Rewari await tourists". Tribune India. अभिगमन तिथि 2014-01-06.
  2. Satish Chandra Mittal (1986). Haryana, a Historical Perspective. Atlantic Publishers & Distri. पपृ॰ 4–. GGKEY:WZ4ZX97B5N2.
  3. https://www.google.co.in/books/edition/Who_s_who/TOFFAQAAIAAJ?hl=en&gbpv=1&bsq=rewari+first+gaushala&dq=rewari+first+gaushala&printsec=frontcover
  4. https://www.google.co.in/books/edition/Hindu_Mahasabha_in_Colonial_North_India/iUFalxUFFWkC?hl=en&gbpv=1&dq=dayanand+gaushala+first&pg=PA128&printsec=frontcover
  5. Rastogi, Nawal Kishore (2013-04-05). "Interesting relationship between Swami Dayanand Saraswati and India's first Gaushala". Dainik Bhaskar. अभिगमन तिथि 2014-01-06.
  6. https://www.amarujala.com/haryana/rewari/the-foundation-of-the-first-gaushala-was-laidon-the-shore-of-nand-sarovar-rewari-news-rtk542918986