गुण

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


गुण जीवमात्र की सद प्रवृति है जिसके कारण वह विशिष्ट बनता है। अंग्रेजी में इसके लिए 'वर्चू' (Virtue) शब्द है जिसे लैटिन भाषा के 'वर्चुअस' शब्द से बना है. मनुष्य की नैतिक उत्तमता को को ही गुण कहते हैं। गुण, उत्तमता की एक प्रवृति या लक्षण है। व्यक्तिगत गुण व्यक्ति को महान बनाने वाले लक्षण है। इसलिए इसे उत्तमता से परिभाषित किया जाता है। गुण का विपरीतार्थक 'अवगुण' है।

गुण और मूल्य[संपादित करें]

मूल्यों के विस्तृत भाव को गुण कहा जा सकता है. प्रत्येक व्यक्ति के मनोभाव में विचार और विश्वास के प्रति कुछ मूल्य होते हैं.

कुछ प्रमुख गुण:

साँचा:Col-5

साँचा:Col-5

साँचा:Col-5

साँचा:Col-5

साँचा:Col-5

चार पाश्चात्य क्लासिक गुण[संपादित करें]

टिप्पणी[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]