गाज़ा पट्टी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
قطاع غزة Qiṭāʿ Ġazza
רצועת עזה Retzu'at 'Azza

गाज़ा पट्टी
राजधानीगजा
31°25′N 34°20′E / 31.417°N 34.333°E / 31.417; 34.333
सबसे बड़ा नगर गाज़ा
राजभाषा(एँ) अरबी
सरकार इस्लामिक समाजवादी राज्य
सत्ताधारी पार्टी हमास
 -  प्रधानमन्त्री इस्माइल हनियाह
 -  राष्ट्रपति महमूद अब्बास
संगठित 13 सितम्बर 1993 ओस्लो सन्धि
 -  हस्ताक्षर पीए मई 1994 में आशिंक रूप से काबिज हुआ; सितम्बर 2005 में पूरी तरह से पकड़ बनाई; हमास 2007 से सत्ता में है (इजराइल वायुसीमा, जमीनी सीमा और समुद्री सीमा पर नियन्त्रण रखता है।) 
क्षेत्रफल
 -  कुल 360 km2 (201 वाँ)
जनसंख्या
 -  जुलाई 2007 जनगणना 1,481,080 (149 वां1)
 -  जनगणना 9, 520
सकल घरेलू उत्पाद (पीपीपी) - प्राक्कलन
 -  कुल $770 मिलियन (160 वां1)
 -  प्रति व्यक्ति $600 (167 वां1)
मुद्रा मिस्री पाउण्ड (वास्तविक)
इजराइली नई शिकल (ILS)
समय मण्डल (यू॰टी॰सी॰+2)
 -  ग्रीष्मकालीन (दि॰ब॰स॰)  (यू॰टी॰सी॰+3)
दूरभाष कूट 970

ग़ज़ा पट्टी इस्रायल के दक्षिण-पश्चिम में स्थित एक 6-10 कि॰मी॰ चौड़ी और कोई 45 कि॰मी॰ लम्बा क्षेत्र है।[1][2] इसके तीन ओर इसरायल का नियन्त्रण है और दक्षिण में मिस्र है। हालाँकि जमीन के सिर्फ दो तरफ इसरायल है पर पश्चिम की दिशा में भूमध्यसागर में इसकी जलीय सीमा इसरायल द्वारा नियन्त्रित होती है।


इसका नाम इसके प्रमुख शहर ग़ज़ा (उच्चारण ग़ाज़्ज़ा भी होता है) पर पड़ा है। इसका दूसरा प्रमुख शहर इसके दक्षिण में स्थित राफ़ा है जो मिस्र की सीमा से लगा है। गजापट्टी में कोई 15 लाख लोग रहते हैं जिसमें कोई 4 लाख लोग अकेले गाज़ा शहर में रहते हैं।

इतिहास[संपादित करें]

गज़ापट्टी का इतिहास तो 1948 में इस्राइल के निर्माण के साथ शुरु होता है पर इस क्षेत्र के सम्पूर्ण इतिहास के लिए इसरायल का इतिहास देखा जा सकता है। 1948 में इसरायल के निर्माण के बाद यहाँ बसे अरबों के लिए अर्मिस्टाइस रेखा बनाई जिसके तहत गजा पट्टी में अरब, जो सुन्नी मुस्लिम हैं, रहेंगे तथा यहूदी इसरायल मे रहेंगे। 1948 से लेकर 1967 तक इसपर मिस्र का अधिकार था पर 1967 के छःदिनी लड़ाई में, जिसमें इसरायल ने अरब देशों को निर्णायक रूप से हरा दिया, इसरायल ने मिस्र से यह पट्टी भी छीन ली जिसके बाद से इसपर इसरायल का नियंत्रण बना हुआ है।

2005 में इसरायल ने फ़िलीस्तीनी स्वतंत्रता संस्था के साथ हुए समझौते के तहत ग़ज़ा और पश्चिमी तट से बाहर हट जाने का फेसला किया। साथ ही इसरायल ने ग़ज़ा तथा पश्चिमी तट पर स्थित यहूदी बस्तियों को भी हटाने का काम शुरु किया। २००७ में हुए चुनाव में हमास ने इसकी सत्ता हथिया ली जो इसरायल और संयुक्त राष्ट्र सहित कई देशों के अनुसार एक आतंकवादी संगठन है। हमास ने पश्चिमी तट पर स्थित अरबों से भी सम्पर्क तोड़ लिया जो 1948 में इसरायल के निर्माण का ही परिणाम हैं और इस कारण गजावासियों से अब तक जुड़े हुए थे।

2009 का इसराली हमला[संपादित करें]

2008 में हुए संघर्ष विराम के बाद ग़ज़ा से हमास ने कई रॉकेट हमले दक्षिणी इसरायल में हुए। इसरायल ने भी कई हमले गाज़ा में किए। 2008 के दिसम्बर के आखिर में इसरायल ने ग़ज़ा पट्टी में अपने नागरिकों की हमास त्यक्त रॉकेटों की हत्या के बदले में हमला किया। इसरायल के 13 लोग मारे गए जिसमें ३ नागरिक तथा 10 सैनिक थे जबकि बदले में ग़ज़ा के कोई 1300 लोग मारे गए। जनवरी में 22 दिन के बाद इसरायल ने एकतरफ़ा संघर्षविराम की घोषणा की। इसके बाद भी गाज़ा से राकेट दागे गए। इसके बाद इसरायल ने दोबारा सैनिक कार्यवाही की धमकी दी है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Mideast accord: the overview; Rabin and Arafat sign accord ending Israel's 27-year hold on Jericho and the Gaza Strip". Chris Hedges, New York Times, 5 May 1994.
  2. "Life in the Gaza Strip". BBC News. 14 July 2014. अभिगमन तिथि 8 February 2016.