कलाई गाँव, तेतिहा-बम्बोर (मुंगेर)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

कलई गाँव बिहार के मुंगेर जिले में स्थित है जो टेटिया बम्बर प्रखंड के अंतर्गत आता है। यह गाँव विविधताओं में एकता के लिए लोकप्रिय है और यहाँ ब्राह्मण राजपूत व भूमिहार के अलावा अन्य जातियां भी रहती है। गाँव में बिजली सड़क व स्कूल की उपलब्धता के कारण यहां का शिक्षात्मक स्तर बिहार के अन्य गांवों से उत्तम है। यहां स्थित कलैयानाथ महादेव का मन्दिर काफी पावन है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इनके नाम पर ही कलई गांव का नामकरण हुआ है। यहां अन्य मंदिरों में शीतला माता का मंदिर, माँ मनसा का विषहरी मन्दिर, ब्रह्मदेव स्थान व हनुमान मंदिर के साथ ही रामलीला रंगमंच भी प्रसिद्ध है। ऐसी मान्यता है कि विषहरी माँ की अनुकंपा से शर्प विष का प्रभाव यहाँ आकर खत्म हो जाता है और नए जीवन की प्राप्ति होती है। छठ पर्व का त्योहार यहां महानय नदी की पावन धारा में मनाया जाता है जो काफी धूमधाम से सूर्यदेव के जयकारे के साथ सम्पन्न होता है। यहाँ सिंचाई के लिए बेलहरणी व महानय नदी के अलावा ट्यूबवेल या अन्य उपकरणों का प्रयोग होता है।