ऑक्सीकरण संख्या

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

ऑक्सीकरण संख्या (oxidation number) या ऑक्सीकरण अवस्था (oxidation state) किसी रासायनिक यौगिक में बंधे हुए किसी परमाणु के ऑक्सीकरण (oxidation) के दर्जे का सूचक होता है। यह संख्या गिनाती है कि उस यौगिक के रासायनिक बंध में वह परमाणु कितने इलेक्ट्रान उस यौगिक में स्थित अन्य परमाणुओं को खो चुका है। उदाहरण के लिए, पानी (जिसका रासायनिक सूत्र H2O है) में दोनो हाइड्रोजन परमाणु अपना एक-एक इलेक्ट्रान ऑक्सीजन परमाणु को दे चुके होते हैं। इसलिये जल में हर हाइड्रोजन परमाणु की ऑक्सीकरण संख्या +1 होती है जबकि ऑक्सीजन की -2 होती है (क्योंकि वह खोने की बजाय दो इलेक्ट्रान प्राप्त कर लेता है)।[1][2]

रेडॉक्स अभिक्रिया[संपादित करें]

ऑक्सीकरण अवस्था रासायनिक अभिक्रिया के दौरान समानता लाने में सहायक होती है। नीचे दिये गए उदाहरण में आप देख सकते हैं कि Ag (चांदी या सिल्वर) में ऑक्सीकरण के बाद Ag+ से Ag0 हो जाता है।

अभिक्रिया के दौरान ऑक्सीकरण

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Loock, Hans-Peter (2011). "Expanded Definition of the Oxidation State". Journal of Chemical Education 88 (3): 282–283. doi:10.1021/ed1005213. ISSN 0021-9584.
  2. Basic Concepts of Chemistry, 8th Edition, Leo J. Malone, Theodore Dolter, John Wiley & Sons, 2008, ISBN 047174154X , ISBN 978-0471741541