अश्लील फ़िल्म

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज


अश्लील फ़िल्म या वयस्क फ़िल्म उन फिल्मों को कहते हैं, जिसमें अश्लील बातें और दृश्य दिखाएँ जाते हैं। इस प्रकार की फिल्में मुख्य रूप से यूरोप और अमेरिकी देशों में बनते हैं।

इतिहास[संपादित करें]

19वीं सदी[संपादित करें]

जब फिल्मों का निर्माण शुरू हुआ, उसके कुछ ही समय के पश्चात इस प्रकार के फिल्मों का निर्माण भी शुरू हो गया। इसमें सबसे पहले 1896 में 7 मिनट के एक फ़िल्म का निर्माण किया गया था। जिसका नाम ले कोचर दे ला मारी रखा गया था। इसमें एक दृश्य में एक लड़की का नहाते समय फिसलकर गिरना दिखाया गया। इस फ़िल्म ने अधिक लाभ अर्जित किए। इसके बाद फ़्रांस के अन्य फ़िल्म निर्माता भी इस ओर ध्यान केन्द्रित करने लगे और इस प्रकार के फिल्मों की शुरुआत हुई।

1920 – 1940[संपादित करें]

इस दौरान मुक फिल्में बना करती थी। जिसमें कोई आवाज नहीं होता था। इस दौरान कई फिल्मों में इस तरह के दृश्य का उपयोग किया गया।[1]

1960 यूरोप और अमेरिका[संपादित करें]

यूरोप में इस तरह के फिल्मों की शुरुआत 1961 में हुई। लुसेन ब्रून को इस तरह के फिल्मों से लाभ मिला तो वह इस फ़िल्म को स्पेन, फ़्रांस, स्वीडन, डेन्मार्क आदि जगह पर बेचने लगा।[2] इसके बाद यह फ़िल्म अमेरिका में दिखाये गए। इसके कुछ समय के पश्चात यह फ़िल्म यहाँ भी बनने लगे। बाद में इसपर प्रतिबंध लगा दिया गया। लेकिन उस आदेश को इस तरह के फ़िल्म बनाने वालों ने अमेरिका के उच्च न्यायालय में चुनौती दी। इसके बाद प्रतिबंध हट गया।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. http://www.kochvision.com/product.aspx?number=741952635291
  2. Eric Schlosser, Reefer Madness: Sex, Drugs and Cheap Labor in the American Black Market (Houghton Mifflin Books, 2004), p. 143.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]