अश्मक

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

अश्मक या अस्सक प्राचीन भारत के 16 महाजनपदों में से एक था। ईसा पूर्व छठी शताब्दी में यानी आज से 2600 वर्ष पूर्व प्राचीन भारत में 16 महाजनपद थे। इसमें से अश्मक महाजनपद एकमात्र दक्षिण में स्थित महाजनपद था। इसकी राजधानी प्रतिष्ठानपूरी यानी आज का पैठण शहर थी। जो आज महाराष्ट्र के छत्रपती संभाजीनगर (औरंगाबाद) जिले में स्थित है। अश्मक महाजनपद पर भगवान श्रीराम जी के वंशज यानी इश्वाकू वंश के राजा राज करते थे। इश्वाकू वंश के अश्मक नाम के राजा ने इस महाजनपद की स्थापना की इसलिए इसे अश्मक महाजनपद कहा जाता है।[1]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. नाहर, डॉ रतिभानु सिंह (1974). प्राचीन भारत का राजनैतिक एवं सांस्कृतिक इतिहास. इलाहाबाद, भारत: किताबमहल. पृ॰ 112. पाठ "editor: " की उपेक्षा की गयी (मदद); |access-date= दिए जाने पर |url= भी दिया जाना चाहिए (मदद)

इन्हें भी देखें[संपादित करें]