अल्फ़ा फ़ीनाइसिस तारा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
अल्फ़ा फ़ीनाइसिस अमरपक्षी (फ़ीनिक्स) तारामंडल में 'α' के चिह्न द्वारा नामांकित तारा है

अल्फ़ा फ़ीनाइसिस, जिसका बायर नाम भी यही (α Phoenicis या α Phe) है, अमरपक्षी तारामंडल का सब से रोशन तारा है और पृथ्वी से दिखने वाले तारों में से ७९वाँ सब से रोशन तारा है। यह हमसे क़रीब ८५ प्रकाश-वर्ष की दूरी पर स्थित है और पृथ्वी से इसका औसत सापेक्ष कांतिमान (यानि चमक का मैग्निट्यूड) लगभग +२.४ है।[1]

अन्य भाषाओँ में[संपादित करें]

अंग्रेज़ी में अल्फ़ा फ़ीनाइसिस को "ऐन्का" (Ankaa) भी कहा जाता हैं। यह अरबी भाषा के "अल-अन्क़ा" (العنقاء‎) से लिया गया है, जिसका मतलब "अमरपक्षी" है। इसे अरबी में "अल-नाइर अल-ज़​ओराक़" (النائر الزورق‎) भी कहा जाता है, जिसका अर्थ है "(छोटी) नौका का उजला तारा"।

तारे का ब्यौरा[संपादित करें]

अल्फ़ा फ़ीनाइसिस एक K0 III श्रेणी का नारंगी दानव तारा है। इसका द्रव्यमान (मास) हमारे सूरज के द्रव्यमान का २.५ गुना और इसका व्यास (डायामीटर) सूरज के व्यास का ११ गुना है। इसकी सतह पर तापमान ४,८५० कैल्विन है और इसकी निहित चमक (निरपेक्ष कान्तिमान) सूरज से ६२ गुना है। यह अपना हाइड्रोजन इंधन ख़त्म कर के अब हीलियम के साथ नाभिकीय संलयन (न्यूक्लीयर फ्यूज़न) कर रहा है। कुछ अरसे बाद यह अपनी बाहरी तहें एक ग्रहीय नीहारिका के रूप में त्यागकर स्वयं एक सफ़ेद बौना बनकर अपने जीवन के अंत में पहुंचेगा।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. van Leeuwen, F. (2007). "HIP 2081". Hipparcos, the New Reduction.