अगसत्यमला संरक्षित जैवमंडल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
अगस्त्यमला संरक्षित जैवमंडल
Agasthyamala Biosphere Reserve
അഗസ്ത്യമല ജൈവ വൈവിധ്യമണ്ഡലം
அகத்தியமலை உயிரிக்கோளம்
AgasthyarkoodamPeak.JPG
जैवमंडल में स्थित 1868 मीटर ऊँचा अगस्त्यमाला (पर्वत)
अगस्त्यमला संरक्षित जैवमंडल की अवस्थिति दिखाता मानचित्र
अगस्त्यमला संरक्षित जैवमंडल की अवस्थिति दिखाता मानचित्र
अगस्त्यमला संरक्षित जैवमंडल की अवस्थिति दिखाता मानचित्र
अगस्त्यमला संरक्षित जैवमंडल की अवस्थिति दिखाता मानचित्र
अगस्त्यमला संरक्षित जैवमंडल की अवस्थिति दिखाता मानचित्र
अगस्त्यमला संरक्षित जैवमंडल की अवस्थिति दिखाता मानचित्र
अवस्थितिपतनमतिट्टा, कोल्लम, तिरुवनन्तपुरम, कन्याकुमारीतिरूनेलवेली ज़िले
तमिल नाडु, केरल
 भारत
निर्देशांक8°39′0″N 77°13′0″E / 8.65000°N 77.21667°E / 8.65000; 77.21667निर्देशांक: 8°39′0″N 77°13′0″E / 8.65000°N 77.21667°E / 8.65000; 77.21667
क्षेत्रफल3,500.36 कि॰मी2 (1,351.50 वर्ग मील)
स्थापित2001

अगस्त्यमला संरक्षित जैवमंडल (Agasthyamala Biosphere Reserve) भारत में पश्चिमी घाट पर्वतमला के दक्षिणतम भाग में सन् 2001 में स्थापित एक संरक्षित जैवमंडल है। इस जैवमंडल के 3,500.36 वर्ग किमी क्षेत्रफल का 1828 वर्ग किमी केरल और 1672.36 वर्ग किमी तमिल नाडु राज्य में है। शेनदुरनी वन्य अभयारण्य, पेप्पारा वन्य अभयारण्य, नेय्यार वन्य अभयारण्य और कलक्काड़ मुंडनतुरई टाइगर रिज़र्व इस संरक्षित जैवमंडल में सम्मिलित हैं।[1][2] सन् 2016 में यह संरक्षित जैवमंडलों के विश्व नेटवर्क का भाग बना और यह यूनेस्को की विश्व के संरक्षित जैवमंडलों की सूची में भी शामिल है।[3]

स्थान[संपादित करें]

अगस्त्यमला संरक्षित जैवमंडल का भूक्षेत्र केरल राज्य के पतनमतिट्टा, कोल्लमतिरुवनन्तपुरम ज़िलों और तमिल नाडु राज्य के कन्याकुमारीतिरूनेलवेली ज़िलों पर विस्तारित है। यहाँ पश्चिमी घाट का सबसे दक्षिणी भाग है। जैवमंडल 8° 8' से 9° 10' उत्तरी अक्षांश और 76° 52' से 77° 34' पूर्वी रेखांश के बीच है और इसका मध्यबिन्दु लगभग 8°39′N 77°13′E / 8.650°N 77.217°E / 8.650; 77.217 के निर्देशांक पर स्थित है। इसमें अगस्त्यमला का पहाड़ मौजूद है।

परिस्थितिकी[संपादित करें]

तेनमला एडवेंचर ज़ोन

अगस्त्यमला संरक्षित जैवमंडल में भारत के कई पारिस्थितिक क्षेत्र सम्मिलित हैं, जिनमें उष्णकटिबंधीय आर्द्र सदाबहार वन, दक्षिण पश्चिमी घाट नम पर्णपाती वन, दक्षिण पश्चिमी घाट मोंटेन वर्षा वन और शोला शामिल हैं। यहाँ 2,000 से अधिक प्रकार के औषधीय वनस्पति मिलते हैं, जिनमें से लगभग 50 दर्लभ या विलुप्तप्राय हैं। यहाँ के प्राणी जीवन में बाघ, एशियाई हाथी और नीलगिरि तहर शामिल हैं। अगस्त्यमला में काणिक्करन समुदाय भी बसता है, जो भारत की एक प्राचीन जनजाति है। यह क्षेत्र पारिस्थितिक पर्यटकों में लोकप्रिय है।[4]

प्रबन्ध[संपादित करें]

एक स्थानीय समिति और एक राज्य स्तरीय बायोस्फीयर प्रबंधन समिति ABR क्षेत्र में विभिन्न विभागों की गतिविधियों का समन्वय करती है और भारतीय पर्यावरण और वन मंत्रालय के दिशानिर्देशों के अनुसार ABR का वैज्ञानिक प्रबंधन करती है। [5] [6]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Kerala Forests & Wildlife Dept, Biosphere Reserves.Agasthyamala Biosphere Reserve Archived 2019-06-08 at the Wayback Machine
  2. Tamil Nadu Forest Department (2007) retrieved September 2, 2007 AGASTHIYARMALAI BIOSPHERE RESERVE Archived 2008-12-30 at the Wayback Machine
  3. UNESCO, World Network of Biosphere Reserves, Agasthyamalai. retrieved March 19, 2016 World Network Of Biosphere Reserves Archived 2019-01-02 at the Wayback Machine
  4. "Environment Ministry to soon declare Agastyamalai a biosphere reserve". The Hindu. 3 January 2006. मूल से 25 January 2013 को पुरालेखित.
  5. "Kerala Forests & Wildlife Department". मूल से 8 जून 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 8 जून 2019.
  6. Wildlife Institute of India