अंटार्कटिक क्रिल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

अंटार्कटिक क्रिल
Antarctic Krill
Antarctic krill (Euphausia superba).jpg
अंटार्कटिक क्रिल
वैज्ञानिक वर्गीकरण
जगत: जंतु
संघ: अर्थोपोडा (Arthropoda)
उपसंघ: क्रस्टेशिया (Crustacea)
वर्ग: मालाकोस्ट्राका (Malacostraca)
अधिगण: युकारिडा (Eucarida)
गण: यूफ़ौज़िएशिया (Euphausiacea)
कुल: यूफ़ौज़ीडाए (Euphausiidae)
वंश: यूफ़ौज़िया (Euphausia)
जाति: E. superba
द्विपद नाम
Euphausia superba
डेना, १८५०

अंटार्कटिक क्रिल (Antarctic krill, वैज्ञानिक नाम: Euphausia superba, यूफ़ौज़िया सुपर्बा) अंटार्कटिका महाद्वीप के इर्द-गिर्द दक्षिणी महासागर में पाई जाने वाली क्रिल की जाति है। क्रस्टेशिया जीववैज्ञानिक उपसंघ के यह नन्हें प्राणी समुद्र में घने झुंड बनाकर रहते हैं - अक्सर इन झुंडों में एक घन मीटर में १०,००० - ३०,००० क्रिल होते हैं। अंटार्कटिक क्रिल ६ साल तक जीवित रह सकता है और यह ६ सेमी (२.४ इंच) लम्बाई और २ ग्राम वज़न तक पहुँच सकता है। क्रिल सूक्ष्मजीवी प्लवक (प्लैन्कटन) खाते हैं और फिर कई बड़े आकार के प्राणी क्रिलों को खाते हैं। यदि जैवभार (बायोमास) की दृष्टि से देखा जाये तो अंटार्कटिक क्रिल हमारे ग्रह की सबसे विस्तृत जातियों में से एक है।[1] कुल मिलाकर सभी अंटार्कटिक क्रिल का अनुमानित जैवभार ५० करोड़ टन है।[2]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. A. Atkinson, V. Siegel, E.A. Pakhomov, M.J. Jessopp & V. Loeb (2009). "A re-appraisal of the total biomass and annual production of Antarctic krill" (PDF). Deep-Sea Research I. 56: 727–740.
  2. Stephen Nicol & Yoshinari Endo (1997). Krill Fisheries of the World. Fisheries Technical Paper 367. Food and Agriculture Organization. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 92-5-104012-5.