सीरियम

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
(सेरियम से अनुप्रेषित)
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

सीरियम (Cerium ; संकेत : Ce) एक रासायनिक तत्त्व है। यह विरल मृदा तत्त्व (Rare Earths) का एक प्रमुख सदस्य है। इसका  ; परमाणु संख्या ५८ तथा परमाणु भार १४०.१३ है।[कृपया उद्धरण जोड़ें]

सीरियम के क्लोराइड को सोडियम अथवा मैगनीशियम के साथ गरम करने अथवा शुद्ध क्लोराइड को पौटैशियम और सोडियम क्लोराइड के साथ मिलाकर विद्युत अपघटन द्वारा प्राप्त किया जा सकता है।[कृपया उद्धरण जोड़ें]

गुणधर्म[संपादित करें]

भौतिक गुण[संपादित करें]

सीरियम लोहे जैसा दीख पड़ता है। यह विद्युत का कुचालक है। यह विशेष कठोर धातु नहीं है और सरलता से इसके पत्तर बनाए जा सकते हैं।[कृपया उद्धरण जोड़ें]

रासायनिक गुण[संपादित करें]

सीरियम पर गरम जल के प्रभाव से हाइड्रोजन निकलता है। शुद्ध धातु पर २६० डिग्री सें. ताप पर हाइड्रोजन प्रवाहित करने से सीरियम ट्राइहाइड्राइड और सीरियम डाईहाइड्राइड (CeH3 + CeH2) का मिश्रण प्राप्त होता है। २१० डिग्री सें. पर क्लोरीन बड़ी तीव्रता से क्रिया कर अजल सीरियम ट्राइक्लोराइड (CeCl3) बनता है। तनु अथवा सांद्र हाइड्रोक्लोरिक अम्ल से जलीय सीरियम क्लोराइड आसानी से बनता है। यह सल्फर, सिलीनियम तथा टेल्यूरियम से मिलकर धातु के सल्फाइड, सेलीनाइड तथा टेल्यूराइड बनाता है। तनु सल्फ्यूरिक अम्ल का इस पर प्रभाव पड़ता है, परंतु सांद्र का कोई प्रभाव नहीं पड़ता। नाइट्रिक अम्ल सीरियम आक्साइड (CeO2) को अवक्षिप्त कर देता है। यह धातु नाइट्रोजन, फास्फोरस, आर्सेनिक ऐंटीमनी और कार्बन के साथ अति तप्त करने पर क्रमश: नाइट्राइट फॉसफाइड, आर्सीनाइड तथा कार्बाइड बनती है।[कृपया उद्धरण जोड़ें]

यह कई धातुओं के साथ मिलकर मिश्र धातुएँ बनाती हैं। मैग्नीशियम, जस्ता और ऐलुमिनियम के साथ अनेक मिश्र धातुएँ बनी हैं।

सीरियम की दो संयोजकताएँ ३ तथा ४ हैं। इसके दो आक्साइड (Ce03 और Ce02), दो हाइड्राक्साइड Ce(OH)3 और Ce(OH)4 फ्लोराइड CaF3 क्लोराइड (CeCl4) सल्फाइड (C2S2) सल्फेट, कार्बोनेट, नाइट्रेट, फास्फेट आदि लवण बनते हैं।[कृपया उद्धरण जोड़ें]

यह धातु कई द्विलवण बनाती है, जैसे M(NO3)2, Ce(NO3)4 8H2O (जहाँ M=Mg, Zn, Ni, Co, या Mn)।[कृपया उद्धरण जोड़ें]

उपयोग[संपादित करें]

  • (१) गैस मेंटलों में थोरियम के साथ इसकी भी अल्प मात्रा काम में आती है।
  • (२) सीरियम की मिश्र धातुएँ गैस लाइटर और सिगरेट लाइटर इत्यादि बनाने के काम आती हैं।
  • (३) मैगनीशियम तथा सीरियम की मिश्र धातुएँ, फ्लेशलाइट पाउडर बनाने के उपयोग में आती हैं।
  • (४) कुछ मिश्र धातुएँ विद्युत इलेक्ट्रोड बनाने के काम आती हैं।
  • (५) चश्मे के काँच बनाने में।
  • (६) कपड़ा रंगने, चर्मकारी तथा फोटोग्राफी में यह काम आता है।

चित्रदीर्घा[संपादित करें]

समूह → 1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18
↓ आवर्त
1 1

2
या
2 3
4
वि

5
टा
6
प्रा
7
भू
8
जा
9
10
Ne
3 11
Na
12
Mg

13
Al
14
Si
15
P
16
S
17
Cl
18
Ar
4 19
K
20
Ca
21
Sc
22
Ti
23
V
24
Cr
25
Mn
26
Fe
27
Co
28
Ni
29
Cu
30
Zn
31
Ga
32
Ge
33
As
34
Se
35
Br
36
Kr
5 37
Rb
38
Sr
39
Y
40
Zr
41
Nb
42
Mo
43
Tc
44
Ru
45
Rh
46
Pd
47
Ag
48
Cd
49
In
50
Sn
51
Sb
52
Te
53
I
54
Xe
6 55
Cs
56
Ba
*
72
Hf
73
Ta
74
W
75
Re
76
Os
77
Ir
78
Pt
79
Au
80
Hg
81
Tl
82
Pb
83
Bi
84
Po
85
At
86
Rn
7 87
Fr
88
Ra
**
104
Rf
105
Db
106
Sg
107
Bh
108
Hs
109
Mt
110
Ds
111
Rg
112
Uub
113
Uut
114
Uuq
115
Uup
116
Uuh
117
Uus
118
Uuo

* लैन्थनाइड 57
La
58
Ce
59
Pr
60
Nd
61
Pm
62
Sm
63
Eu
64
Gd
65
Tb
66
Dy
67
Ho
68
Er
69
Tm
70
Yb
71
Lu
** ऐक्टिनाइड 89
Ac
90
Th
91
Pa
92
U
93
Np
94
Pu
95
Am
96
Cm
97
Bk
98
Cf
99
Es
100
Fm
101
Md
102
No
103
Lr

आवर्त सारणी के इस प्रचलित प्रबन्ध में लैन्थनाइड और ऐक्टिनाइड को अन्य धातुओं से अलग रखा गया है। विस्तृत और अति-विस्तृत आवर्त सारणीओं में f-ब्लॉक और g-ब्लॉक धातुओं को भी एक साथ प्रबन्धित किया जाता है।

आवर्त सारणी में तत्त्वों की श्रेणियाँ

धातु उपधातुएं अधातु
क्षारीय धातुएँ क्षारीय मृदा धातु आंतरिक संक्रमण तत्व सन्धिगत तत्व अन्य धातु अन्य अधातु हैलोजन्स उत्कृष्ट गैस
लैन्थेनाइड्स ऐक्टिनाइड्स
परमाणु क्रमांक रंग मानक ताप व दाब अवस्था को दर्शाते हैं (0 °C and 1 atm)
ठोस द्रव गैस
किनारे प्राकृतिक उपस्थिति दर्शाते हैं
आदि क्षय से कृत्रिम अनान्वेषित