वेबमेल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

वेबमेल (या वेब-आधारित ई-मेल ) शब्द का उपयोग दो चीजों का वर्णन करने के लिए किया जाता है. इस शब्द का एक उपयोग किसी वेबमेल क्लाइंट के बारे में बताने के लिए होता है: किसी वेब ब्राउजर के माध्यम से संपर्क किये गए वेब एप्लिकेशन के रूप में प्रयुक्त एक ई-मेल क्लाइंट. यह आलेख वेबमेल के इस तरह के प्रयोग पर केंद्रित है. इस शब्द का दूसरा उपयोग किसी वेबसाइट (एक वेबमेल सेवा प्रदाता) जैसे कि हॉट मेल, याहू! मेल, जीमेल और एओएल मेल के माध्यम से पेश की गयी ई-मेल सेवा के बारे में बताना है.[1] व्यावहारिक रूप से हर वेबमेल प्रदाता एक वेबमेल क्लाइंट का उपयोग कर ई-मेल तक पहुँच प्रदान करता है और उनमें से कई मानक ई-मेल प्रोटोकॉल का उपयोग कर एक डेस्कटॉप ई-मेल क्लाइंट द्वारा भी ई-मेल तक पहुँच प्रदान करते हैं, जबकि कई इंटरनेट सेवा प्रदाता अपने इंटरनेट सेवा पॅकेज में शामिल ई-मेल सेवा के एक भाग के रूप में एक वेबमेल क्लाइंट की सेवा प्रदान करते हैं.

जैसा कि किसी भी वेब एप्लिकेशन के साथ होता है, किसी डेस्कटॉप ई-मेल क्लाइंट के इस्तेमाल की तुलना में वेबमेल का मुख्य फ़ायदा हर वेब ब्राउजर तक ई-मेल भेजने और प्राप्त करने की क्षमता है. इसका एक मुख्य नुकसान इसे इस्तेमाल करते समय इंटरनेट से संपर्क स्थापित करने की अनिवार्यता है (जीमेल, गीयर्स के इन्सटॉलेशन के माध्यम से अपने वेबमेल क्लाइंट के ऑफलाइन इस्तेमाल की सुविधा प्रदान करती है.[2]).

इतिहास[संपादित करें]

वेब के प्रारंभिक दिनों में 1994 और 1995 में कई लोग एक वेब ब्राउजर पर ई-मेल की पहुँच को सक्रीय करने पर काम कर रहे थे. यूरोप में सोरेन वेजरम और लूका मैनुन्ज़ा ने अपने "डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू मेल"[3] और "वेबमेल"[4][5] एप्लिकेशनों को जारी किया जबकि संयुक्त राज्य अमेरिका में मैट मैन्किंस ने "वेबएक्स" को लिखा.[6] इन प्रारंभिक एप्लिकेशनों में से प्रत्येक पर्ल स्क्रिप्ट थे जिनमें डाउनलोड के लिए उपलब्ध पूर्ण स्रोत कोड शामिल थे.

1994 में भी बिल फ़िल्टर ने कैलिफोर्निया के माउन्टेन व्यू में लोटस सीसी:मेल (cc:Mail) में रहकर विंडोज एनटी पर सी में लिखे गए एक सीजीआई प्रोग्राम के रूप में वेब-आधारित ई-मेल के एक प्रयोग पर काम शुरू किया और जनवरी 1995 में इसे सार्वजनिक रूप से लोटस्फेयर में प्रदर्शित किया.[7][8][9]

सोरेन वेज्रम का "डब्ल्यूडब्ल्यूडब्ल्यू मेल" (WWW Mail) उस समय लिखा गया था जब वह डेनमार्क के कोपेनहेगन बिजनेस स्कूल में अध्ययन और कार्य कर रहे थे और इसे 28 फ़रवरी 1995 को जारी किया गया था.[10] लूका मनूजा का वेबमेल तब लिखा गया था जब वह सार्दिनिया में सीआरएस4 में कार्यरत थे, इसका पहला स्रोत 30 मार्च 1995 को रिलीज किया गया था.[11] संयुक्त राज्य अमेरिका में मैट मैन्किंस ने मियामी विश्वविद्यालय[12] में डॉ. बर्ट रोजेनबर्ग के पर्यवेक्षण के तहत अपना "वेबएक्स" एप्लिकेशन सोर्स कोड 8 अगस्त 1995 को comp.mail.misc को भेजे एक पोस्ट के जरिये जारी किया,[13] हालांकि इसे उस स्कूल ऑफ आर्किटेक्चर में एक प्राथमिक ई-मेल एप्लिकेशन के रूप में इस्तेमाल किया जाता था जहाँ मैन्किंस कुछ महीनों पहले काम करते थे.

इसी बीच बिल फ़िल्टर के वेबमेल एप्लिकेशन को आगे एक व्यावसायिक उत्पाद के रूप में विकसित किया गया जिसके बारे में लोटस ने 1995 की सर्दियों में घोषणा की और इसे वर्ल्ड वाइड वेब 1.0 के लिए सीसी:मेल (cc:Mail) के रूप में जारी किया, इस तरह एक सी:मेल मैसेज स्टोर तक पहुँच के लिए एक वैकल्पिक माध्यम उपलब्ध करा दिया (सामान्य माध्यम एक सीसी:मेल डेस्कटॉप एप्लिकेशन था जो डायलअप के जरिये या लोकल एरिया नेटवर्क के दायरे में संचालित होता था.[14][15][16][17]

वेबमेल का प्रारंभिक व्यावसायीकरण भी उस समय संभव हुआ जब "वेबएक्स" - वेब कॉन्फ्रेंसिंग कंपनी से कोई संबंध नहीं होने की स्थिति में - 1995 के अंत में मैन्किंस कंपनी और "डॉटशॉप, इंक." द्वारा बेचा जाने लगा था. "डॉटशॉप के भीतर "वेबएक्स" ने अपना नाम बदलकर "ईएमयूमेल" रख लिया था जिसे 2001 में एक्कुरेव को इसकी बिक्री तक यूपीएस और रैकस्पेस जैसी कंपनियों को बेचा जाना था.[18] ईएमयू मेल पहले ऐसे एप्लिकेशनों में से एक था जिसमें एक मुफ्त संस्करण की सुविधा थी जिसमें एम्बेडेड एडवरटाइजिंग के साथ-साथ एक लाइसेंसशुदा संस्करण शामिल था जो पहले नहीं था. चूंकि हॉटमेल ने फ्री-ई-मेल एड्रेस के बाजार में एक फुट होल्ड विकसित कर लिया था, ईएमयू मेल ने मॉलीमेल की सेवा शुरू की जो आपको वेब से आपके मौजूदा ई-मेल को चेक करने की सुविधा देती है.[19] एक्कुरेव के अधिग्रहण के बाद ईएमयूमेल वेबमेल लाइन को SMTP.com ई-मेल डिलीवरी सेवा के पक्ष में समाप्त कर दिया गया जिसे आज भी बेचा जाता है.[20]

सॉफ्टवेयर पैकेज[संपादित करें]

कई ऐसे सॉफ्टवेयर पैकेज भी हैं जो संस्थानों को उनके सहयोगियों के लिए वेब के जरिये ई-मेल सेवा प्रदान करने की अनुमति देते हैं. कुछ सॉल्यूशन ओपन सोर्स सॉफ़्टवेयर के रूप में हैं जैसे कि स्क्विरलमेल (SquirrelMail), राउंडक्यूब (RoundCube), ब्लूमाम्बा (BlueMamba), इलोहामेल (IlohaMail), और ऊबीम्याऊ (UebiMiau), जबकि अन्य कमर्शियल ओपन सोर्स के रूप में हैं जैसे कि एटमेल या क्लोज्ड सोर्स जैसे कि माइक्रोसॉफ्ट एक्सचेंज के लिए आउटलुक वेब एक्सेस मॉड्यूल. इसके विपरीत ऐसे प्रोग्राम भी हैं जो वेबमेल तक पहुँच के लिए किसी वेब ब्राउज़र का अनुकरण कर सकते हैं मानो कि इसे पीओपी3 या आईएमएपी एकाउंट में स्टोर किया गया हो. हालांकि ये वेब सर्विस के यूजर इंटरफेस को बदलने के प्रति अतिसंवेदनशील होते हैं क्योंकि इसमें कोई मानक इंटरफेस नहीं होता है.

कुछ सेवा प्रदाता अन्य ई-मेल सर्वरों के लिए वेब तक पहुँच प्रदान करते हैं. यह उन मेलबॉक्सों तक पहुँचने की अनुमति देता है जहाँ मेल सर्वर वेब इंटरफेस की सुविधा नहीं प्रदान करता है या जहाँ एक वैकल्पिक इंटरफेस वांछित होता है.

रेंडरिंग और कम्पैटिबिलिटी (प्रतिपादन और अनुकूलता)[संपादित करें]

ई-मेल उपयोगकर्ता पीओपी3 प्रोटोकॉल का इस्तेमाल कर एक वेबमेल क्लाइंट और एक डेस्कटॉप क्लाइंट दोनों का इस्तेमाल करने में थोड़ी असुविधा महसूस कर सकते हैं: डेस्कटॉप क्लाइंट द्वारा डाउनलोड किये गए और सर्वर से हटा लिए गए ई-मेल संदेश वेबमेल क्लाइंट पर उपलब्ध नहीं होंगे. इस मोड में एक वेबमेल क्लाइंट का उपयोग संदेशों को डेस्कटॉप ई-मेल क्लाइंट द्वारा डाउनलोड किये जाने के पहले एक वेब क्लाइंट का प्रयोग कर उनका प्रिव्यू करने तक सीमित है.

दूसरी ओर आईएमएपी4 के उपयोग से एक वेबमेल क्लाइंट और एक डेस्कटॉप क्लाइंट दोनों के इस्तेमाल में ऐसी कोई असुविधा नहीं है: मेलबॉक्स की सामग्रियों को वेबमेल और डेस्कटॉप ई-मेल क्लाइंट दोनों पर निरंतर प्रदर्शित किया जाएगा और एक इंटरफेस में संदेशों के साथ उपयोगकर्ता द्वारा किया गया कोई भी बदलाव उस समय दिखाई देगा जब दूसरे इंटरफेस का इस्तेमाल कर उस ई-मेल तक पहुँचा जाएगा.

कई लोकप्रिय वेबमेल सेवाओं जैसे कि याहू मेल, जीमेल और विंडोज लाइव हॉटमेल के लिए रेंडरिंग की क्षमताओं में काफी भिन्नताएं हैं. एचटीएमएल टैगों के विभिन्न प्रयोगों जैसे कि <style> और <head> के कारण और सीएसएस रेंडरिंग संबंधी असुविधाओं के कारण ई-मेल मार्केटिंग कंपनियाँ क्रॉस-प्लेटफॉर्म ई-मेल भेजने के लिए पुरानी वेब डेवलपमेंट तकनीकों पर भरोसा करती हैं. आम तौर पर इसका मतलब टेबलों और इनलाइन स्टाइलशीटों पर काफी हद तक निर्भर रहना है.

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

  • वेबमेल प्रदाताओं की तुलना
  • ई-मेल ग्राहकों की तुलना
  • ई-मेल होस्टिंग सेवा
  • एल- या पत्र मेल, ई-मेल पत्र और पत्र ई-मेल

संदर्भ[संपादित करें]

  1. ब्राउनलो, मार्क "ईमेल एंड वेबमेल स्टेटिस्टिक्स", ईमेल विपणन रिपोर्ट, जनवरी, 2009
  2. "ऑफ़लाइन जीमेल" ऑफिस जीमेल ब्लॉग, 27 जनवरी 2009
  3. WWW मेल क्लाइंट वेबसाइट "WWW Mail website"
  4. पिन्ना अल्बर्टो "सोरु: यूएन इनकॉन्ट्रो कौन रुबिया, कोसी नेक्यू इल वेब इन सर्डेगना" कोरियर डेला सीरा, 28 दिसंबर 1999 (इतालवी में)
  5. फेर्रुक्की लुका "दी आईसीटी इन सार्दिनिया: स्टार्ट अप एंड इवॉल्यूशन"
  6. comp.mail.misc WebEx एनाउंसमेंट "comp.mail.misc Webex Announcement, August 8, 1995"
  7. इंफोवर्ल्ड, "लोटस सीसी: मेल टू गेट बेटर सर्वर, मोबाइल एक्सेस", 6 फरवरी 1995, पी. 8.
  8. इन्फोर्मेंशन वीक, "सर्फिंग दी नेट फॉर ई-मेल", 16 अक्टूबर 1995.
  9. बिजनेस वायर, "रिसोर्स टेक्नोलॉजीज एपोइंट्स वाइस प्रेसिडेंट ऑफ इंजीनियरिंग", 3 नवम्बर 2000.
  10. WWW मेल क्लाइंट 1.00 एनाउंस: WWW Mail Client 1.00"
  11. "वेबमेल - सोर्स कोड रिलीज़"
  12. सीवी, डॉ. बर्टन रोसेंबर्ग "सीवी, बर्टन रोसेंबर्ग"
  13. comp.mail.misc WebEx एनाउंसमेंट "comp.mail.misc Webex Announcement, August 8, 1995"
  14. नेटवर्क वर्ल्ड, "लोटस रेडियस सीसी: मेल-वेब हुक्स", (पार्ट 2), 4 सितम्बर 1995, पीपी 1, 55.
  15. पीआर न्यूज़वायर, "लोट्स एनाउन्सेस सीसी: मेल फॉर दी वर्ल्ड वाइड वेब" , 26 सितम्बर 1995.
  16. इंफो वर्ल्ड, "सीसी: मेल यूज़र्स विल गेट ई-मेल थ्रो वेब", 2 अक्टूबर 1995, पी. 12.
  17. नेटवर्क वर्ल्ड, "मोर फ्रॉम लोट्स: एक्स.500 एंड दी वेब", 2 अक्टूबर 1995, पी. 10.
  18. ईएमयूमेल वेबसाइट.
  19. मोल्लीमेल समीक्षा "मोल्लीमेल रिव्यू"
  20. SMTP.com SMTP.com