पर्ल

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
पर्ल
प्रकार बहु-रूपावली: प्रकार्यात्मक, आज्ञार्थक, लक्ष्योन्मुखी (क्लास आधारित), परावर्तन, प्रक्रियात्मक, मूल
पहला अवतरण 1987
डिज़ाइनर लैरी वाल
निर्माता लैरी वाल
स्थायी विमोचन 5.18.0[1] (2013-05-18; 16 महीने पहले)
प्रस्तुतिपूर्व विमोचन 5.19.0[2] (2013-01-20; 20 महीने पहले)
लिखने का तरिका गतिक
प्रभावकर्ता AWK, स्मालटॉक 80, लिस्प, सी, सी++, sed, यूनिक्स शैल, पास्कल
प्रभावित पाइथन, पीएचपी, रूबी, ईसीएमए-लिपि, एलपीसी, विंडोज पॉवरशैल, जावास्क्रिप्ट, फाल्कन, पर्ल 6, Qore
कार्यान्वयन भाषा सी
प्रचालन तन्त्र Cross-platform
अनुज्ञप्‍तिधारी GNU General Public License or Artistic License[3]
सामान्य संचिका नाम अनुयोजन .pl .pm .t .pod
वेबसाइट पर्ल.ओर्ग
Wikibooks logo विकिपुस्तक पर पर्ल प्रोग्रामन

पर्ल एक उच्च स्तरीय, सामान्य-प्रयोजन, प्रोग्रामिंग भाषा है। इसका विकास लैरी वॉल द्वारा सन् १९८७ में यूनिक्स स्क्रीप्टिंग भाषा के अंतर्गत रिपोर्ट कि प्रक्रिया को आसान बनाने के लिये किया गया था। तब से, यह अनेक परिवर्तनो और संशोधनो से गुजरी है और प्रोग्रामरस के बीच व्यापक रूप से लोकप्रिय हुई है। पर्ल अन्य प्रोग्रामिंग भाषाओं जैसे कि C, shell scripting (sh), AWK और sed से समानता रखती है। यह भाषा शक्तिशाली पाठ प्रसंस्करण सुविधाए प्रदान करती है, वो भी यूनिक्स उपकरणों की डेटा लंबाई सीमा के बिना। पर्ल ने एक CGI स्क्रिप्टिंग भाषा के रूप में 1990 के दशक के अंत में अपनी पार्सिंग क्षमताओं के कारण व्यापक लोकप्रियता प्राप्त की।

CGI के अलावा पर्ल, ग्राफिक्स प्रोग्रामिंग, सिस्टम प्रशासन, नेटवर्क प्रोग्रामिंग, वित्त, जैव सूचना विज्ञान और अन्य अनुप्रयोगों के लिए काम में ली जाती है | अपने लचीलेपन और शक्ति के कारण पर्ल को "प्रोग्रामिंग भाषाओं के स्विस सेना के chainsaw" की संज्ञा दी गयी है |

संस्करण[संपादित करें]

सन १९८७ मे प्रोग्राम्रर के रुप मे वाऑल ने पर्ल भाषा पर काम करना शुरु किया था। दिसंबर १८, सन १९८७ मे संस्करण १.० को रिहा किया गया। यह भाषा कई सालो मे महान रुप से विस्तारित हुआ। सन १९८८ मे पर्ल २ को निकाला गया, जिसमे नियमित अभिव्यक्ति इंजन की सुविधा थी। पर्ल 3, सन १९८९ मे रिहा किया गया। यह भाषा बाइनरी डेटा का समर्थन करता था। मूलतः पर्ल सिर्फ एक पृष्ट का प्रलेखन था। सन १९९१ मे 'पर्ल प्रोग्रामिंग' नामक पुस्तक को प्रकाशित किया गया। लेकिन वह पुस्तक 'ऊँट किताब' के नाम से प्रसिद्ध हुई। इसी समय पर्ल ४ को निकाला गया, ताकि लोग पुस्तक की प्रलेखन को समझ पाये। शीघ्र पर्ल ५

सन १९९३ मे पर्ल ४ को कई रखरखाव विज्ञप्ति से गुज़रना पडा। इस दौरान वाऑल ने पर्ल ४ को छोडकर पर्ल ५ पर काम करना शुरु किया। इसका डिज़ाइन सन १९९४ तक तैयार किया गया। उसको इस तरह बनाया गया कि वह हर मंच पर चल सके। इसलिए पर्ल ४ को पर्ल ५ का प्राथमिक, रखरखाव, बंदरगाह आवश्यकता माना जाता है। पर्ल ५.००० को १७ अक्टूबर १९९४ को जारी किया गया। वह दुभाषिया का फिर से लिखने के और नई सुविधाओ के जोडने के बराबर था। महत्वपूर्ण बात यह थी कि भाषा बढाने के लिए तंत्र बशर्ते थे। इस कारण मूल दुभाषिया को स्थिर बनने का मौका मिला। उन दिनो से पर्ल ५ सक्रिय विकसित हो रहा है।

पर्ल ५.००१ को १३ मार्च १९९५ को जारी किया गया। पर्ल ५.००२ को २९ फ़रवरी १९९६ को नए सुविधाओ के साथ जारी किया गया। यह सुविधा लेखको को पर्ल-निर्माण दिनचर्या बनाने मे काम आई। पर्ल ५.००३ को २५ जून १९९६ को सुरक्षा से रिहा किया गया। महत्वपूर्ण घटना यह थी कि पर्ल ५ का इतिहास भाषा के अंतर्रगत हुआ। अक्टूबर २६, १९९५ को पर्ल का कोष निकाला गया। सन २०१२ तक इसमे ९५०० लेखक है। पर्ल ५.००४ को १५ मई १९९७ को जारी किया गया जिसमे सार्वभौम वस्तुओ को अपने कक्षो के साथ जोडा गया। वर्तमान मे, पर्ल भाषा कई परिचालन प्रणालीयो जैसे माइक्रोसॉफ्ट पर चलता है। पर्ल ५.००५ को २२ जुलाई १९९८ को जारी किया गया। इसमे कई वृद्धियो को शामिल किया गया।

२०००-वर्तमान[संपादित करें]

पर्ल ५.६ को २२ मार्च २००० को जारी किया गया। इसमे बडा परिवर्तन स्ट्रिंग प्रतिनिधित्व और बड़े फाइल समर्थन थे। इसको विकसित करते समय यह निर्णय लिया गया कि वह खुला स्रोत परियोजना रखा जाए। सन २००० मे वाऑल ने सुझाव दिए, जिसमे पर्ल ६ के निर्माण मे मार्गदर्शक बने। सन २००१ मे इस पर काम शुरु किया गया और औपचारिक प्रलेखन बनाया गया। अस्तित्व में, पर्ल 6 एक भाषा का वर्णन के रूप मे रह गया। पर्ल ५.८ को १८ जुलाई २००२ को जारी किया गया। इस भाग मे सारे अद्यतन को जोडा गया। इसमे नई कार्यान्वयन, सांख्यिक सटीकता आदि को जोडा गया। यह भाग अभी तक (२०१३) का सबसे लोकप्रिय भाग रहा है। सन २००४ मई पर्ल ६ का सारांश बनाया गया। और सन २००६ मे इसको वास्तविकता का रुप दिया गया। तारीख १८ दिसम्बर २००७, पर्ल २० वीं वर्षगांठ पर पर्ल ५.१०.० को निकाला गया, जो अपने सुविधा मे पर्ल ६ के करीब था। नवंबर २००९ तक, मासिक विज्ञप्ति रहे है। वह अब पर्ल 6 के सबसे पूर्ण कार्यान्वयन रहा है।

१२ अप्रैल २०१० को पर्ल ५.१२.०, १४ मई २०११ को पर्ल ५.१४, २० मई २०१२ को पर्ल ५.१६, १८ मई २०१३, पर्ल ५.१८ को जारी किया गया था। इन सब भागो मे नए तरीखे, नए कार्यान्वयन और नए अद्यतन का परिचय दिया गया है।

नाम[संपादित करें]

पर्ल मूल रूप से "पर्ल"(Pearl) नामित किया गया था। वाऑल अपनी भाषा को अर्थ से जुडे नाम देना चाहते थे। वह दावा करते है कि वे ३-४ अक्षर के पद को अस्वीकारते थे। वह भाषा का नाम अपने पत्नी का रखना चाहते थे। लेकिन इस भाषा की खोज ने, वर्तनी बदल दी। विस्तारित रुप से, अंग्रेज़ी मे Practical Extraction and Report Language लिखा जाता है।

ऊंट प्रतीक[संपादित करें]

प्रोग्रामिंग पर्ल, ओ'रेइल्लि मीडिया, से प्रकाशित ऊंट के चित्र को विशेषता देता है। जिसके कारण वह 'ऊंट किताब' से जानी जाती है। यह अनौपचारिक प्रतीक उनके कपडो पर भी लिखा जाता था।

प्याज प्रतीक[संपादित करें]

पर्ल फाउंडेशन उसकी सहायक कंपनियों को लाइसेंस मे जो एक विकल्प का प्रतीक है, एक प्याज़ का है।

बाहरी कडियां[संपादित करें]

१. "दि इंप्मीमेंटेशन ऑफ पर्ल ५ बनाम पर्ल ६". २. http://www.enlightenedperl.org/

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Perl 5.18.0 is now available". perl.org. http://www.nntp.perl.org/group/perl.perl5.porters/2013/05/msg201940.html. अभिगमन तिथि: 2013-05-18. 
  2. "Perl 5.19.0 is now available". perl.org. http://www.nntp.perl.org/group/perl.perl5.porters/2013/05/msg201980.html. अभिगमन तिथि: 2013-05-20. 
  3. "Perl Licensing". dev.perl.org. http://dev.perl.org/licenses. अभिगमन तिथि: 2011-01-08.