विश्व व्यापार संगठन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
विश्व व्यापार संगठन
World Trade Organization (अंग्रेजी)
Organisation mondiale du commerce (फ्रेंच)
Organización Mundial del Comercio (स्पेनिश)
200px


██ वि.व्या.सं संस्थापक सदस्य (१ जनवरी १९९५)

██ संगठन के बाद के सदस्य
स्थापना १ जनवरी, १९९५
मुख्यालय सेंटर विलियम रैपर्ड, जेनेवा, स्विट्ज़रलैंड
सदस्यता 160 सदस्य राष्ट्र
आधिकारिक भाषा अंग्रेज़ी, फ्रेंच, स्पेनिश[1]
महानिदेशक Roberto Azevêdo
बजट 196 million Swiss francs (approx. 209 million US$) in 2011[2]
कर्मचारी 625[3]
जालपृष्ठ www.wto.int
विश्व व्यापार संगठन is located in Earth
संगठन का मुख्यालय जेनेवा में

विश्व व्यापार संगठन (अंग्रेज़ी:वर्ल्ड ट्रेड आर्गेनाइजेशन (डब्ल्यू टी ओ)) विश्व की सबसे प्रमुख मौद्रिक संस्था है जो विश्व व्यापार के लिये दिशा निर्देशों को जारी करती है और सदस्य देशों को जरुरत के मुताबिक ॠण उपलब्ध कराती है। यह नए व्यापार समझौतों में बदलाव और उन्हें लागू कराने के लिए उत्तरदायी है। भारत भी इसका एक सदस्य देश है।

डब्लयूटीओ को १९९५ में स्थापित किया गया था। इसे जनरल एग्रीमेंट ऑन टेरिफ एंड ट्रेड (गैट) के स्थान पर बनाया गया था। गैट की स्थापना १९४८ में तब हुई थी जब २३ देशों ने कस्टम टेरिफ कम करने के लिए हस्ताक्षर किए थे। डब्ल्यूटीओ गैट का वृहद स्वरूप है, जहां गैट सिर्फ मर्केडाइज सामानों को नियंत्रित करता था, वहीं डब्ल्यूटीओ के कार्य-क्षेत्र में सेवा व्यापार जैसे दूरसंचार और बैंकिंग और दूसरे मुद्दे जैसे इंटेलेक्चुअल संपत्ति अधिकार भी हैं|

डब्ल्यूटीओ में 160 सदस्य हैं। चीन इसमें २००१ में शामिल हुआ था। डब्ल्यूटीओ की सबसे बड़ी संस्था मंत्रिस्तरीय सम्मेलन (मिनिस्ट्रयल कॉन्फ्रेंस) है। यह प्रत्येक दो वर्ष में अन्य कार्यों के साथ संस्था के महासचिव और मुख्य प्रबंधकर्ता का चुनाव करती है। साथ ही वह सामान्य परिषद (जनरल काउंसिल) का काम भी देखती है। सामान्य परिषद विभिन्न देशों के राजनयिकों से मिल कर बनती है जो प्रतिदिन के कामों को देखता है। डब्लयूटीओ का मुख्यालय जेनेवा, स्विट्जरलैंड में है। इसके वर्तमान महानिदेशक Roberto Azevêdo हैं। अब तक इसके छह मंत्रिस्तरीय सम्मेलन (मिनिस्ट्रियल कॉन्फ्रेंस) हो चुके हैं।

विवाद

विकसित देश अपने बाजार, विकासशील देशों के लिए पूरे तौर पर नहीं खोलते, जो हमेशा से विवाद का कारण रहा है। कानकुन में हुई पांचवें मंत्रिस्तरीय सम्मेलन में जी-२० विकसित देशों जिसमें भारत, चीन और ब्राजील शामिल हैं, ने यूरोपियन संघ और अमेरिका द्वारा कृषि सब्सिडी समाप्त करने की पुरजोर सिफारिश की थी। लेकिन बाद में यह वार्ता बिना किसी प्रगति के समाप्त हो गई थी।

संदर्भ[संपादित करें]

  1. General Information on Recruitment in the World Trade Organization, World Trade Organization
  2. "WTO Secretariat budget for 2008". World Trade Organization. http://www.wto.org/english/thewto_e/secre_e/budget08_e.htm. अभिगमन तिथि: 2008-08-25. 
  3. Overview of the WTO Secretariat All WTO staff are based in Geneva.