६जी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

६जी (6G) सेल्युलर डेटा नेटवर्क सपोर्ट करने वाली वायरलेस संचार प्रौद्योगिकियों की छठी पीढ़ी होगी। यह 5G की उत्तराधिकारी होगी, और माना जा रहा है कि इसकी गति इससे काफ़ी अधिक होगी, अंदाज़न 95 GHz (गीगाहर्ट्ज)। रिपोर्ट्स के अनुसार चीन ने पहले से ही प्रौद्योगिकी में अनुसंधान शुरू कर दिया है। इसके अलावा नोकिया, सैमसंग और एलजी जैसी बड़ी कंपनियों ने भी इसपर काम शुरू कर दिया है। दक्षिण कोरिया और जापान भी कथित तौर पर रुचि रखते हैं। संभवतः 6G 2030 के दशक में व्यावसायिक तौर पर उपलब्ध हो जाएगा।[1][2][3][4][5]

संदर्भ[संपादित करें]

  1. Perspectives, Theodore S. Rappaport for CNN Business. "Opinion: Think 5G is exciting? Just wait for 6G". CNN.
  2. Kharpal, Arjun (November 7, 2019). "China starts development of 6G, having just turned on its 5G mobile network". CNBC.
  3. https://www.digitaltrends.com/mobile/what-is-6g/
  4. Li, Jane. "Forget about 5G, China has kicked off its development of 6G". Quartz.
  5. "6G: What It Is & When to Expect It". Lifewire.