हिन्द महासागर में बिखरे द्वीप

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
फ़्रांस के 'हिन्द महासागर में बिखरे द्वीप' नामक प्रशासनिक क्षेत्र के द्वीपों की हिन्द महासागर में स्थिति - ऊपर-दाएँ से घड़ी विपरीत घुमते हुए - त्रोम्लिन द्वीप, ग्लोरियोसो द्वीप, झ़ुआन द नोवा द्वीप, बासास दा इण्डिया एटोल
ग्लोरियोसो द्वीपों का नक़्शा
झ़ुआन द नोवा द्वीप की अंतरिक्ष से ली गई तस्वीर

हिन्द महासागर में बिखरे द्वीप (फ़्रांसिसी: Îles Éparses or Îles éparses de l'océan indien, अंग्रेज़ी: Scattered Islands in the Indian Ocean) हिन्द महासागर में स्थित चार छोटे कोरल (प्रवाल) द्वीपों, एक एटोल और एक रीफ़ का सामूहिक नाम है जिनपर फ़्रांस का नियंत्रण है और जो 'फ़्रांसिसी दक्षिणी व अंटार्कटिकी भूमि' (Terres australes et antarctiques françaises या TAAF) नामक प्रशासनिक क्षेत्र के ५वें ज़िले में आते हैं। इन द्वीपों पर कोई भी स्थाई आबादी नहीं है। इनमें से तीन द्वीप (ग्लोरियोसो द्वीप, झ़ुआन द नोवा द्वीप और युरोपा द्वीप) और बासास दा इण्डिया एटोल माडागास्कर से पश्चिम में मोज़ामबीक जलसन्धि में स्थित हैं, जबकि चौथा द्वीप (त्रोम्लिन द्वीप) माडागास्कर से ४५० किमी पूर्व में हिन्द महासागर के खुले पानी में स्थित है। इस प्रशासनिक क्षेत्र में आने वाला बांक द्यु गेज़िर (Banc du Geyser) नामक रीफ़ भी मोज़ामबीक जलसन्धि में स्थित है।[1]

अंतर्राष्ट्रीय विवाद[संपादित करें]

इन सभी द्वीपों को लेकर फ़्रांस अंतर्राष्ट्रीय विवादों में फंसा हुआ है:[2]

  • त्रोम्लिन द्वीप को मॉरिशस अपना इलाक़ा समझता है। जब मॉरिशस पर ब्रिटेन का राज था तो यह द्वीप मॉरिशसी उपनिवेश का हिस्सा हुआ करता था। १९५४ में ब्रिटेन ने फ़्रांस को इसपर एक हवाई पट्टी और मौसम-निरीक्षण केंद्र बनाने की इजाज़त दे दी। मॉरिशस इसकी वापस मांग करता है और उसने अपनी स्वतंत्रता से पहले भी १९५९ में विश्व मौसम संस्थान को स्पष्ट बता दिया था कि वह त्रोम्लिन को अपना भाग मानता है।
  • ग्लोरियोसो द्वीपों को कोमोरोस और सेशेल्स अपना भाग मानते हैं।
  • बांक द्यु गेज़िर रीफ़ को माडागास्कर और कोमोरोस अपना भाग मानते हैं और माडागास्कर ने १९७६ में इसपर एक स्पष्ट घोषणा करी थी। इसके आसपास के समुद्र में तेल के होने की सम्भावना है और संयुक्त राष्ट्र की समुद्री क़ानून संधि के अनुसार उसपर उसी राष्ट्र का अधिकार होगा जिसकी यह रीफ़ होगी।
  • झ़ुआन द नोवा और युरोपा द्वीपों पर और बासास दा इण्डिया एटोल को माडागास्कर अपना भाग मानता है।

विवरण[संपादित करें]

बासास दा इण्डिया एटोल को छोड़कर फ़्रांस ने इन सभी पर मौसम-निरिक्षण केंद्र बना रखते हैं जो हिन्द महासागर में उठने वाले तूफ़ानों की सूचना इस क्षेत्र के सभी आबादी वाले द्वीपों को प्रदान करते हैं। बासास दा इण्डिया एटोल और बांक द्यु गेज़िर रीफ़ के अलावा अन्य सभी द्वीपों पर १,००० मीटर से बड़ी हवाई पट्टियाँ बनाई गई हैं। इनमें से कुछ पर कर्मचारी तैनात किये गए हैं जो अपने दौरों के बाद बदल दिए जाते हैं। अन्य विवरण इस प्रकार है:

एटोल/द्वीप कर्मचारी
संख्या
क्षेत्रफल
किमी
अनूप झील
किमी
वि.आ.क्षे.
किमी
अक्षांश-रेखांश स्थान
बांक द्यु गेज़िर
(Banc du Geyser)
- - - - साँचा:Urlhicode:Banc du Geyser 12°21′S 46°26′E / 12.35°S 46.433°E / -12.35; 46.433 (Banc du Geyser) उत्तर मोज़ामबीक जलसन्धि
ग्लोरियोसो द्वीप
(Glorioso Islands)
११ २९.६ ४८,३५० साँचा:Urlhicode:Glorioso Islands 11°33′S 47°20′E / 11.55°S 47.333°E / -11.55; 47.333 (Glorioso Islands) उत्तर मोज़ामबीक जलसन्धि
झ़ुआन द नोवा द्वीप(१)
(Juan de Nova Island)
१४ ४.४ (२) ६१,०५० साँचा:Urlhicode:Juan de Nova 17°03′S 42°45′E / 17.05°S 42.75°E / -17.05; 42.75 (Juan de Nova) मध्य मोज़ामबीक जलसन्धि
बासास दा इण्डिया
(Bassas da India)
- ०.२ ७९.८ १,२३,७०० साँचा:Urlhicode:Bassas da India 21°27′S 39°45′E / 21.45°S 39.75°E / -21.45; 39.75 (Bassas da India) दक्षिण मोज़ामबीक जलसन्धि
युरोपा द्वीप
(Europa Island)
१२ २८ १,२७,३०० साँचा:Urlhicode:Europa Island 22°20′S 40°22′E / 22.333°S 40.367°E / -22.333; 40.367 (Europa Island) दक्षिण मोज़ामबीक जलसन्धि
त्रोम्लिन द्वीप
(Tromelin Island)
१९ ०.८ - २,८०,००० साँचा:Urlhicode:Tromelin Island 15°53′S 54°31′E / 15.883°S 54.517°E / -15.883; 54.517 (Tromelin Island) पश्चिमी हिन्द महासागर
कुल ५६ ३८.६ ११८.४ ६,४०,४००  

टिप्पणियाँ:
(१) 'झ़ुआन द नोवा' में बिंदु-वाले 'झ़' का उच्चारण बिना बिन्दु वाले 'झ' से काफ़ी भिन्न है। इसका उच्चारण अंग्रेज़ी के 'टेलिविझ़न' शब्द के 'झ़' से मिलता है।
(२) इस द्वीप में रीफ़ें ४० किमी की झील बनाती हैं लेकिन यह एटोलों की तरह एक असली अनूप झील नहीं है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]