हिन्दू आर्मी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

हिन्दू आर्मी पंडित सुनील त्रिपाठी, रणधीर सिंह, सतीश अन्ना एवं सुशील तिवारी के द्वारा बनाया गया एक धार्मिक संगठन है।[1] इसकी स्थापना 25 जनवरी 2019 को हुआ।[2] संगठन की मानसिकता भारत को हिंदू राष्ट्र बनाना है।[3] संगठन केवल राष्ट्रवाद का समर्थन करती है। एक पत्रकार द्वारा संगठन प्रमुख समेत नरेंद्र मोदी, योगी आदित्यनाथ और राम मंदिर, अयोध्या[4] को बदनाम करने की कोशिश की गई परंतु वह नाकाम हुआ और जेल भी गया।[5][6][7][8] अगस्त 2021 में संगठन प्रमुख को एक धर्म विशेष पर टिप्पणी करने के जुर्म में जेल जाना पड़ा था।[9][10][11][12][13]

हिंदू आर्मी
संक्षेपाक्षर हिंदू आर्मी
सिद्धांत
स्थापना 25 जनवरी 2019
संस्थापक
  • पंडित सुनील त्रिपाठी
  • रणधीर सिंह
  • सतीश अन्ना
  • सुशील तिवारी
स्थापना हुई लखनऊ, उत्तर प्रदेश
प्रकार धार्मिक संगठन
वैधानिक स्थिति चालू
मुख्यालय शारदा नगर, लखनऊ, उत्तर प्रदेश
पैतृक संगठन
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ
जालस्थल https://www.hinduarmy.org

संदर्भ[संपादित करें]

  1. smartweb. "viral news collection by Hindu army हिन्दुआर्मी हिंदू युवा वाहिनी, हिंदू समाज, हिन्दू सेना हिन्दुआर्मी ट्रस्ट – योगी के यूपी में सतर्कता समूह कैसे सक्रिय हो रहे हैं यूपी में पिछले 5 साल में तमाम ऐसे ही हिंदूवादी संगठन बनकर तैयार हो गए हैं जो ऐसे आए दिन हिंदू-मुस्लिम से संबंधित मुद्दों को उठा रहे हैं और बीजेपी सरकार व संगठन इनके साथ किसी भी तरह के कनेक्शन से इंकार करती रही है, जबकि हिन्दुआर्मी चीफ सुशीलतिवारी योगी मोदी को इश्वरीय प्रेणनाश्रोत बताते है अपनी संघ आयु 26 वर्ष बताते है ।" (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2021-11-08.
  2. "Jaunpur के भदेठी जा रहे हिंदू आर्मी के पदाधिकारियों को पुलिस ने रोका, पांच घंटे कोतवाली में बैठाया". Dainik Jagran. अभिगमन तिथि 2021-11-08.
  3. Uttarakh, Crime. "लखनऊ में लाॅकडाउन में जरूरतमंदों के लिए खाने की व्यवस्था करेगा हिन्दू आर्मी चीफ सुशील तिवारी | Crime Uttarakhand" (अंग्रेज़ी में). मूल से 8 नवंबर 2021 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2021-11-08.
  4. "CM और PM पर अभद्र कमेंट करने वाले प्रशांत कनौजिया की जमानत हो सकती है खारिज". punjabkesari. 2020-04-09. अभिगमन तिथि 2021-11-08.
  5. "पत्रकार प्रशांत कनौजिया दिल्ली से गिरफ्तार, राम मंदिर को लेकर सोशल मीडिया पर किया था पोस्ट". Amar Ujala. अभिगमन तिथि 2021-11-08.
  6. "राम मंदिर पर विवादित पोस्ट, ऐक्टिविस्ट प्रशांत कनौजिया को यूपी पुलिस ने दिल्ली से किया अरेस्ट". Navbharat Times. अभिगमन तिथि 2021-11-08.
  7. "राम मंदिर को लेकर विवादित पोस्ट करने के आरोप में पत्रकार प्रशांत कनौजिया गिरफ्तार". Jansatta. अभिगमन तिथि 2021-11-08.
  8. "राम मंदिर पर किसी अन्य की पोस्ट को शेयर करने वाले पत्रकार के खिलाफ एफआईआर दर्ज". Prabhat Khabar - Hindi News. अभिगमन तिथि 2021-11-08.
  9. "जंतर-मंतर पर भड़काऊ नारेबाजी, हिन्दू आर्मी चीफ सुशील तिवारी लखनऊ से गिरफ्तार". Navbharat Times. अभिगमन तिथि 2021-11-08.
  10. Bureau, News Nation (2021-08-21). "जंतर मंतर पर भड़काऊ नारेबाजी मामले में हिंदू आर्मी चीफ सुशील तिवारी गिरफ्तार:Hindu Army Chief Sushil Tiwari arrested for raising slogans at Jantar Mantar". News Nation. अभिगमन तिथि 2021-11-08.
  11. डेस्क, एबीपी न्यूज़ वेब. "जंतर-मंतर नारेबाजी मामले में हिंदू आर्मी के चीफ सुशील तिवारी को गिरफ्तार किया गया- दिल्ली पुलिस". ABP News. अभिगमन तिथि 2021-11-08.
  12. Bharatvarsh, TV9. "Hindu Army Chief Sushil Tiwari Arrested Latest News in Hindi, Hindu Army Chief Sushil Tiwari Arrested Top Headline, Photos, Videos Online". TV9 Bharatvarsh (hindi में). अभिगमन तिथि 2021-11-08.सीएस1 रखरखाव: नामालूम भाषा (link)
  13. Shukla, Gaurav (2021-08-21). "chief of Hindu Army Sushil Tiwari arrested in Lucknow in connection with Jantar Mantar sloganeering case । दिल्ली के जंतर-मंतर पर भड़काऊ नारेबाजी के मामले में हिंदू आर्मी चीफ सुशील तिवारी गिरफ्तार - India TV Hindi News". www.indiatv.in. अभिगमन तिथि 2021-11-08.