हनुका

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

हनुका यहूदी धर्म का पर्व है। हनुक्का को रोशनी का त्योहार भी कहा जाता है। आठ दिनों तक चलने वाला हनुका यहूदियों का बड़ा त्योहार है। हिब्रू कैलेंडर के मुताबिक हनुकाह किसलेव (Kislev) के 25 वें दिन से शुरू हो जाता है। वहीं, ग्रेगोरियन कैलेंडर में नवंबर के अंत से दिसंबर के अंत तक किसी भी समय हो सकता है। हनुकाह आठ दिनों तक मनाया जाता है। इस साल हनुकाह 28 नवंबर, 2021 से 6 दिसंबर, 2021 तक मनाया जाएगा। इसमें हर दिन, एक मोमबत्ती जलाई जाती है। ये मोमबत्तियां 9 शाखा वाली कैंडल ब्रूम में लगाकर जलाई जाती हैं। त्योहार नौ शाखाओं के साथ एक मोमबत्ती की मोमबत्तियों को जलाकर मनाया जाता है, जिसे आमतौर पर मेनोरा या हनुक्किया कहा जाता है। एक शाखा को आम तौर पर दूसरों के ऊपर या नीचे रखा जाता है और इसकी मोमबत्ती का उपयोग अन्य आठ मोमबत्तियों को जलाने के लिए किया जाता है। इस अनूठी मोमबत्ती को शमाश (हिब्रू: שַׁמָּשׁ‎, "अटेंडेंट") कहा जाता है। हर रात, एक अतिरिक्त मोमबत्ती शमाश द्वारा तब तक जलाई जाती है जब तक कि त्योहार की अंतिम रात को सभी आठ मोमबत्तियां एक साथ नहीं जला दी जातीं।साथ ही हनुका के दिन गाने गाना, ड्रेडल (Dreidel) नाम का खेल खेला जाता है, और तेल से बने पकवान खाए जाते हैं :- जैसे लैटेक्स (Latkes) और सुफगनियोत (Sufganiyot)।


इतिहास

इसराइल के इतिहास के अनुसार हनुका दूसरी शताब्दी ईसा पूर्व के दौरान यरूशलेम में दूसरे मंदिर के पुनर्विकास के जश्न के रूप में मनाया जाता है. हनुका त्यौहार को मनाए जाने की शुरुआत तब हुई जब यहूदियों ने मैक्रोबियन विद्रोह में ग्रीक-सीरियाई शासकों के खिलाफ उठे और उन्हें यरूशलेम से बाहर निकाल दिया |1970 के दशक के बाद से, दुनिया भर में चबाड हसीदिक आंदोलन ने कई देशों में खुले सार्वजनिक स्थानों पर सार्वजनिक मेनोरा लाइटिंग शुरू की है। हनुक्का की कहानी पहले और दूसरे मैकाबीज़ की किताबों में संरक्षित है, जो विस्तार से यरूशलेम में मंदिर के पुन: समर्पण और मेनोरा की रोशनी का वर्णन करती है। ये किताबें आधुनिक यहूदियों द्वारा इस्तेमाल किए गए कैननाइज्ड तनाख (हिब्रू बाइबिल) का हिस्सा नहीं हैं, हालांकि उन्हें ग्रीक सेप्टुआजेंट में शामिल किया गया था। रोमन कैथोलिक और रूढ़िवादी चर्च उन्हें पुराने नियम की विहित पुस्तकें मानते हैं।

[[श्रेणी:पर्व]this festival is celebrated by Israel country