हण्टर आयोग

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

सन १८८० में लार्ड रिपन को भारत का गवर्नर-जनरल मनोनीत किया गया था। उस समय उन्होने भारतीय शिक्षा के विषय में (१८८२ में) एक कमीशन गठित किया जिसे "भारतीय शिक्षा आयोग" कहा गया। सर विलियम हण्टर इसी कमीशन के सदस्य थे और इन्ही के नाम से इसे हण्टर कमीशन कहा गया।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]