सामग्री पर जाएँ

स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग,सीयूएसएटी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से

स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग कोचीन यूनिवर्सिटी ऑफ साइंस एंड टेक्नोलॉजी के तहत भारत में केरल राज्य के कोच्चि (कोचीन) नामक स्थान पर एक कॉलेज बनाया गया हैं। यह स्कूल सूचना प्रौद्योगिकी को इंजीनियरिंग स्ट्रीम के रूप में पेश करने वाला देश का पहला स्कूल था और सुरक्षा और फायर इंजीनियरिंग में बी.टेक पाठ्यक्रम वाले देश के बहुत कम कॉलेजों में से एक है। यह कालेज एक अनुसंधान केंद्र और मुख्य परामर्श केंद्र भी हैं। डीआरडीओ , इसरो , डीएसटी, एआईसीटीई, यूजीसी, कॉयर बोर्ड और नारियल विकास बोर्ड जैसी एजेंसियों द्वारा कालेज को राष्ट्रीय स्तर की कई महत्वपूर्ण शोध परियोजनाएं स्वीकृत की गई हैं। कालेज द्वारा पेश किए गए बी.टेक कार्यक्रमों को राष्ट्रीय प्रत्यायन बोर्ड द्वारा टियर-I प्रणाली के तहत मान्यता प्राप्त है। बोर्ड को 13 जून 2014 को वाशिंगटन समझौते में स्थायी हस्ताक्षरकर्ता का दर्जा दिया गया है। वाशिंगटन समझौते के अनुसार, अन्य हस्ताक्षर कर्ताओं द्वारा कार्यक्रमों की मान्यता केवल राष्ट्रीय प्रत्यायन बोर्ड द्वारा मान्यता प्राप्त कार्यक्रमों पर लागू होती है जो शिक्षा प्रदाताओं द्वारा स्वीकार किए जाते हैं।

प्रवेश[संपादित करें]

एस.ओ.ई-सीयूएसएटी

एस.ओ.ई-सीयूएसएटी में प्रवेश एक अखिल भारतीय प्रवेश परीक्षा के द्वारा होता है। इसे विश्वविद्यालय द्वारा आयोजित किया जाता हैं। इसे एडमिशन टेस्ट के रूप में जाना जाता है।[1] इस परीक्षा में मुख्य रूप से स्नातक और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए होते हैं। परीक्षा में गणित, भौतिकी और रसायन विज्ञान के प्रश्न शामिल होते हैं और विश्वविद्यालय द्वारा उम्मीदवारों को परीक्षा पैटर्न, पूछे जाने वाले प्रश्नों के प्रकार, अंकन योजना और बहुत कुछ की बेहतर समझ प्रदान करने के लिए इसकी घोषणा की गई है। इस कॉलेज में देश-विदेश से छात्र आते हैं।

पाठ्यक्रम[संपादित करें]

स्कूल अपने सात प्रभागों के माध्यम से कार्य करता है:- सिविल, मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल, इलेक्ट्रॉनिक्स, कंप्यूटर विज्ञान, सुरक्षा और अग्नि, और सूचना प्रौद्योगिकी

स्नातक पाठ्यक्रम (बी.टेक)[संपादित करें]

  1. सिविल इंजीनियरिंग (90)
  2. कंप्यूटर विज्ञान और इंजीनियरिंग (90)
  3. इलेक्ट्रिकल और इलेक्ट्रॉनिक्स इंजीनियरिंग (60)
  4. इलेक्ट्रॉनिक्स और संचार इंजीनियरिंग (90)
  5. सूचना प्रौद्योगिकी (90)
  6. मैकेनिकल इंजीनियरिंग (90)
  7. सुरक्षा एवं अग्नि इंजीनियरिंग (60)

स्नातकोत्तर पाठ्यक्रम (एम.टेक)[संपादित करें]

सूचना प्रौद्योगिकी (सॉफ्टवेयर सिस्टम) (18) कंप्यूटर विज्ञान और इंजीनियरिंग (नेटवर्किंग सिस्टम) (18) सिविल इंजीनियरिंग (भू-तकनीकी इंजीनियरिंग) (18) मैकेनिकल इंजीनियरिंग (थर्मल इंजीनियरिंग) (18) इलेक्ट्रॉनिक्स एवं संचार इंजीनियरिंग (वायरलेस प्रौद्योगिकी) (18) स्वास्थ्य, सुरक्षा और पर्यावरण प्रबंधन (18)

अंशकालिक एमटेक पाठ्यक्रम[संपादित करें]

सिविल इंजीनियरिंग (18) मैकेनिकल इंजीनियरिंग (18) केमिकल इंजीनियरिंग (18) इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग (18)

पीएचडी कार्यक्रम[संपादित करें]

ऊपर उल्लिखित सभी शाखाएँ में कराते हैं।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Web Page - CUSAT | ERP5". exam.cusat.ac.in.