सूक्ष्मजैविक पारिस्थितिकी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

सूक्ष्मजैविक पारिस्थितिकी सूक्ष्मजैविकी की एक शाखा है जिसमें सूक्ष्मजीवों के आपसी सबंधों एवं उनके वातावरण से सबंधों का अध्ययन किया जाता है। इसमें मुख्यतः जीवाणु, आर्किया एवं यूबैक्टरीया के साथ-साथ विषाणु का भी अध्ययन किया जाता है। सूक्ष्मजीव प्रायः सर्वत्र पाये जाते है ये पृथ्वी पर मिट्टी में, अम्लीय गर्म जल-धाराओं में, नाभिकीय पदार्थों में[1], जल में, भू-पपड़ी में, यहां तक की कार्बनिक पदार्थों में तथा पौधौं एवं जन्तुओं के शरीर के भीतर भी पाये जाते हैं

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Fredrickson J, Zachara J, Balkwill D; एवं अन्य (2004). "Geomicrobiology of high-level nuclear waste-contaminated vadose sediments at the Hanford site, Washington state". Appl Environ Microbiol. 70 (7): 4230–41. PMID 15240306. डीओआइ:10.1128/AEM.70.7.4230-4241.2004. Explicit use of et al. in: |author= (मदद)सीएस1 रखरखाव: एक से अधिक नाम: authors list (link)