साने गुरूजी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
छिनवाल में साने गुरूजी की प्रतिमा

पांडुरंग सदाशिव साने (२४ दिसम्बर १८९९ - ११ जून १९५०) मराठी के प्रसिद्ध लेखक, शिक्षक, सामाजिक कार्यकर्ता एवं भारत के स्वतंत्रता संग्राम सेनानी थे। वे साने गुरूजी के नाम से अधिक प्रसिद्ध हैं।

जीवन चरित[संपादित करें]

पाण्डुरंग साने जी का जन्म २४ दिसम्बर १८९९ को महाराष्ट्र के रत्नगिरि जनपद के पालगढ़ कस्बे में हुआ था। इनके पिताजी का नाम सदाशिव साने तथा माताजी का नाम यशोधाबाई साने था।

उनके जिवन मे उनको मा कि शिक्षा का बहुत प्रभाव मिला। शिक्षा पुरी होने के बाद उन्होने अमलनेर के प्रताप हाई स्कूल मे शिक्षक के पद पे काम किया। प्रताप हाई स्कूल मे छात्रावास कि जिम्मेदारी सम्भालते हुए उन्हे बहुत प्रसिद्धि मिलि। उन्होने छात्रावास मे छात्रो को खुद के जिवन के स्वावलम्बन का पाठ पढाया। अमलनेर मे उन्होने तत्त्वज्ञान मंदीर मे तत्त्वज्ञान कि शिक्षा ली।

सन १९२८ मे उन्होने ‘विद्यार्थी’ नाम से मासिक कि शुरुवत कि। उन पर महात्मा गांधींजी के विचारो का बहुत प्रभाव था। वो खादी के कपड़ो का उपयोग करते थे। सन १९३० मे उन्होने शिक्षक कि नौकरी छोड दी। शिक्षक कि नौकरी छोडने के बाद उन्होने सविनय कायदेभंग उपक्रम मे भाग लिया।

साने गुरुजी का प्रकाशित साहित्य[संपादित करें]

चित्र:Sane guruji master.JPG
साने गुरुजी का हस्ताक्षर
  • अमोल गोष्टी
  • आपण सारे भाऊ भाऊ
  • आस्तिक
  • इस्लामी संस्कृति
  • कर्तव्याची हाक
  • कला आणि इतर निबंध
  • कला म्हणजे काय?
  • कल्की अर्थात संस्कृतीचे भविष्य
  • 'कुरल' नावाच्या तमिळ महाकाव्याचे मराठी भाषांतर
  • क्रांति
  • गीताहृदय
  • गुरुजींच्या गोष्टी
  • गोड गोष्टी (कथामाला), भाग १ से १०
    • भाग १ - खरा मित्र
    • भाग २ - घामाची फुले
    • भाग ३ - मनूबाबा
    • भाग ४ - फुलाचा प्रयोग
    • भाग ५ - दुःखी
    • भाग ६ - सोराब आणि रुस्तुम
    • भाग ७ - बेबी सरोजा
    • भाग ८ - करुणादेवी
    • भाग ९ - यती की पती
    • भाग १० - चित्रा नि चारू
  • गोड निबंध भाग १, २
  • गोड शेवट
  • गोष्टीरूप विनोबाजी
  • जीवनप्रकाश
  • तीन मुले
  • ते आपले घर
  • त्रिवेणी
  • दिल्ली डायरी
  • देशबंधु दास
  • धडपडणारी मुले
  • नवा प्रयोग
  • पंडित ईश्वरचंद्र विद्यासागर
  • पत्री
  • भगवान श्रीकृष्ण व इतर चरित्रे
  • भारतीय संस्कृती
  • मानवजातीचा इतिहास
  • मोरी गाय
  • मृगाजिन
  • रामाचा शेला
  • राष्ट्रीय हिंदुधर्म. (भगिनी निवेदिता की मूल पुस्तक का अनुवाद)
  • विनोबाजी भावे
  • विश्राम
  • श्याम खंड १, २
  • श्यामची आई
  • श्यामची पत्रे
  • सती
  • संध्या
  • समाजधर्म. (लेखक : भगिनी निवेदिता व साने गुरुजी)
  • साधना (साप्ताहिक) (संस्थापक, संपादक)
  • सुंदर पत्रे
  • सोनसाखळी व इतर कथा
  • सोन्या मारुती
  • स्त्री जीवन
  • स्वप्न आणि सत्य
  • स्वर्गातील माळ
  • हिमालयाची शिखरे व इतर चरित्रे

जीवनचरित[संपादित करें]

चरित्रे[संपादित करें]

साने गुरुजी का जीवनचरित अनेक लेखकों ने लिखा है। उनमें से कुछ पुस्तकों एवं उनके लेखकों के नाम नीचे दिये गये हैं-

  • आपले साने गुरुजी -- लेखक डॉ. विश्वास पाटील
  • जीवनयोगी साने गुरुजी -- लेखक डॉ. रामचंद्र देखणे
  • निवडक साने गुरुजी -- लेखक रा.ग. जाधव
  • महाराष्ट्राची आई साने गुरुजी -- लेख्क वि.दा. पिंपळे
  • साने गुरुजी -- लेखक यदुनाथ थत्ते, रामेश्वर दयाल दुबे.
  • साने गुरुजी आणि पंढरपूर मंदिरप्रवेश चळवळीचे अध्यात्म -- लेखक आत्माराम वाळिंजकर
  • साने गुरुजी गौरव ग्रंथ -- लेखक रा.तु. भगत
  • साने गुरुजी जीवन परिचय -- लेखक यदुनाथ थत्ते
  • साने गुरुजी : जीवन, साहित्य आणि विचार -- लेखक ?
  • साने गुरुजी पुनर्मूल्यांकन -- भालचंद्र नेमाडे
  • साने गुरुजी यांची सुविचार संपदा -- लेखक वि.गो. दुर्गे
  • साने गुरुजी साहित्य संकलन -- लेखक प्रेम सिंह
  • सेनानी साने गुरुजी -- लेखक राजा मंगळवेढेकर

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]