सातकड़ी होता

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

सातकड़ी होता ओड़िया के सामाजिक चेतना के वरिष्ठ कथाकार हैं। १६ उपन्यास, १६ कहानी संग्रह और एक कविता संग्रह प्रकाशित। उड़ीसा साहित्य अकादेमी द्वारा पुरस्कृत, आर्य रोदन फिल्म के श्रेष्ठ कथा-लेखन के लिए क्षेत्रीय पुरस्कार। श्री होता अनेक साहित्यिक सामाजिक, आर्थिक और तकनीकी संस्थाओं के पदाधिकारी अथवा सदस्य रहे हैं। वे साहित्य अकादेमी दिल्ली के ओड़िया परामर्श मंडल के सदस्य रहे हैं। सम्प्रति दक्षिण पूर्व रेलवे के जनरल मैनेजर के पद से सेवा निवृत होने के बाद प्रसिद्ध ओड़िया दैनिक समय के संपादक हैं।[1]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. वागर्थ (पत्रिका). कोलकाता: भारतीय भाषा परिषद प्रकाशन. सितम्बर–अक्टूबर 2000. पृ॰ ६२. |access-date= दिए जाने पर |url= भी दिया होना चाहिए (मदद)