साकेत बहुगुणा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
साकेत बहुगुणा
Saket-Bahuguna.jpg
जन्म उत्तरकाशी, उत्तराखंड, भारत
राष्ट्रीयता भारतीय
शिक्षा JNU, DU
व्यवसाय छात्र नेता, सामाजिक कार्यकर्ता
धार्मिक मान्यता हिन्दू

साकेत बहुगुणा एक छात्र कार्यकर्ता और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के राष्ट्रीय मीडिया संयोजक रह चुके हैं।

पृष्ठभूमि एवं शिक्षा[संपादित करें]

एक सामान्य गढ़वाली परिवार में पैदा हुए, वह मूल रूप से उत्तराखंड राज्य के गढ़वाल क्षेत्र के उत्तरकाशी जिले से आते हैं और वर्तमान में दिल्ली में रहते हैं। उन्होंने जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) से अपनी स्नातक और स्नातकोत्तर , बी.ए. व एम.ए. की पढाई तथा दिल्ली विश्वविद्यालय से एम.फिल की पढाई पूरी की और वर्तमान में दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) में भाषाविज्ञान में अनुसंधान किया।

छात्र जीवन एवं आंदोलन[संपादित करें]

जेएनयू और डीयू के एक सक्रिय छात्र नेता के रूप में, और एबीवीपी के दिल्ली राज्य सचिव होने के नाते, उन्होंने सशक्त बलात्कार विरोधी कानून व संसद में किशोर न्याय विधेयक के पारित होने के लिए छात्रों के प्रभावी विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व किया। [1] यूपीएससी की परीक्षा में भेदभावपूर्ण भाषाई नीतियों के अंत के लिए इन्होने आंदोलन चलाया था। [2] यूजीसी की विभिन्न डॉक्टरेट फैलोशिप की फीस दर में वृद्धि की मांग में और दिल्ली विश्वविद्यालय में चार साल के स्नातक कार्यक्रम के पूर्ण रोलबैक और कई अन्य महत्वपूर्ण मुद्दों जैसे ९ फरवरी २०१७ को जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में हुए आतंकवाद समर्थक नारों के विरोध में आंदोलन चलाया। उनपर तथ्यों के साथ छेड़छाड़ के आरोप लगते रहे हैं। उनकी पार्टी ने जेएनयू से जुड़े विडियो से छेड़छाड़ करने का काम किया ऐसा ऊजागर हुआ। हाल में नकाबपोश लोग द्वारा हमले में इनकी पार्टी संलिप्त थी।[3] एबीवीपी के राष्ट्रीय मीडिया संयोजक के रूप में, साकेत अक्सर छात्रों और युवाओं को संबोधित करने के लिए देश भर में कॉलेजों और विश्वविद्यालयों का दौरा करता है वह नियमित रूप से टेलीविजन और सार्वजनिक आयोजनों पर भारत के सबसे बड़े छात्र संगठन का प्रतिनिधित्व करते हैं।[4][5] उन्होंने इंडिया टुडे कॉन्क्लेव 2016, लखनऊ लिटरेचर फेस्टिवल 2016, टाइम्स दिल्ली लिटरेचर फेस्टिवल 2016 जैसे साहित्य उत्सवों में युवाओं को संबोधित किया है। उन्होंने एक प्रतिष्ठित युवा नेता के रूप में तुर्की,चीन और यूनाइटेड किंगडम की यात्रा भी की है।[6] नेट-परीक्षा के शुल्कवृद्धि के विरोध में आन्दोलन किया था।[7][8][9]

विभिन्न छात्र आन्दोलनों का सफलतापूर्वक नेतृत्व करने वाले साकेत पूर्व में एबीवीपी के दिल्ली प्रदेश मंत्री, राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य जैसे महत्वपूर्ण पदों पर रहे हैं। 2016 से ये एबीवीपी के राष्ट्रीय मीडिया संयोजक व केंद्रीय कार्यसमिति के सदस्य हैं।

एक प्रखर वक्ता के रूप में जाने जाने वाले साकेत बहुगुणा विभिन्न विश्वविद्यालयों में व टीवी चैनलों पर राष्ट्रवादी विचारधारा [10] का पक्ष रखते हैं।[11]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "संग्रहीत प्रति". टाइम्स ऑफ़ इंडिया. मूल से 18 फ़रवरी 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 19 अप्रैल 2017.
  2. "संग्रहीत प्रति". मूल से 20 अप्रैल 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 20 अप्रैल 2017.
  3. "संग्रहीत प्रति". मूल से 21 अप्रैल 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 20 अप्रैल 2017.
  4. "संग्रहीत प्रति". मूल से 20 अप्रैल 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 20 अप्रैल 2017.
  5. "संग्रहीत प्रति". मूल से 21 अप्रैल 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 20 अप्रैल 2017.
  6. "संग्रहीत प्रति". मूल से 24 फ़रवरी 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 19 अप्रैल 2017.
  7. "संग्रहीत प्रति". मूल से 20 अप्रैल 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 20 अप्रैल 2017.
  8. "संग्रहीत प्रति". मूल से 21 अप्रैल 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 20 अप्रैल 2017.
  9. "संग्रहीत प्रति". मूल से 21 अप्रैल 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 20 अप्रैल 2017.
  10. http://www.deccanchronicle.com/opinion/op-ed/050317/interview-were-being-offensive-as-anti-india-slogans-cant-be-allowed-on-campus.html Archived 2017-04-21 at the Wayback Machine डेक्कन क्रॉनिकल
  11. "संग्रहीत प्रति". मूल से 21 अप्रैल 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 19 अप्रैल 2017.