सहजीवी संबंध

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

माइकोराइजा (mycorrhiza) किसी कवक तथा वाहिक पादपों (vascular plant) की जडों के बीच परस्पर सहजीवी सम्बन्ध को कहते हैं।

इस प्रकार के सहजीवी सम्बन्ध में कवक, पौधे की जड़ों पर आश्रित होते हैं तथा मृदा-जीवन का एक महत्वपूर्ण घटक होते हैं।

पादप organic molecules (saugar) कवक को प्रदान करता है। जब्कि कवक जल तथा mineral nutrients पादप को प्रदान करता है ये एक दुसरे के साथ मिलकर जिवन यापन करते हैं इन दोनो मैं से कोई भी एक दुसरे के लिये हानिकारक नही होता हैं दोनो ही एक दुसरे के विकास मै सहायक होते हैं। कवक मुख्य रूप से मृदा से फोस्फोरस(P) का अवशोषण कर मृदा में transfer करता है।


इस सहजीवी  में संबंध के कारण पादप का मुख्य लाभ प्राप्त होते हैं-- १.मूलवातोढ रोगजनक के प्रति  प्रतिरोधकता

२. लवणता एवम् सुखे के प्रति सहनशीलता तथा विकास प्रदर्शित