समैक्य

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
कर्मचारी आन्दोलन की समैक्य में उन्मुष्टि

समैक्य साझा हितों, उद्देश्यों, मानकों और सहानुभूति के बारे में जागरूकता है जो समूहों या वर्गों की ऐक्य की मनोवैज्ञानिक भावना उत्पन्न करती है। [1] [2] समैक्य व्यक्तियों को अस्वीकार नहीं करती है और व्यक्तियों को समाज के आधार के रूप में देखती है। [3] यह एक सामाजिक सम्बन्ध को सन्दर्भित करता है जो लोगों को एक साथ बांधते हैं। यह शब्द प्रायः समाजशास्त्र और अन्य सामाजिक विज्ञान के साथ दर्शनशास्त्र और जैवनैतिकता में भी प्रयुक्त होता है। [4] यह कथोलिक सामाजिक शिक्षा और यैशव लोकतांत्रिक राजनीतिक विचारधारा में एक महत्त्वपूर्ण अवधारणा है। [5]

समैक्य भी यूरोपीय संघ के मूलाधिकारों के घोषणापत्र के छः सिद्धान्तों में से एक है [6] और प्रत्येक वर्ष 20 दिसम्बर को अन्तर्राष्ट्रीय मानव समैक्य दिवस को एक अन्तर्राष्ट्रीय पालन के रूप में मान्यता दी जाती है।

जैवनैतिकता और मानवाधिकारों पर सार्वभौमिक घोषणा में समैक्य की अवधारणाएँ का उल्लिखित, [7] किन्तु स्पष्टतः परिभाषित नहीं किये गए हैं। [8] जैसे-जैसे जैव प्रौद्योगिकी और जैव चिकित्सा संवर्धन अनुसंधान और उत्पादन में वृद्धि हो रही है, स्वास्थ्यसेवा अधोसंरचना के भीतर समैक्य की विशिष्ट परिभाषा की आवश्यकता महत्त्वपूर्ण है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Caturvedi, Mahendra (1970). "A Practical Hindi-English Dictionary". dsal.uchicago.edu. अभिगमन तिथि 2023-12-21.
  2. "solidarity". मूल से 27 January 2004 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 19 March 2018 – वाया The Free Dictionary.
  3. (वीर गडरिया) पाल बघेल धनगर
  4. (वीर गडरिया) पाल बघेल धनगर
  5. Fitzpatrick, Tony; Kwon, Huck-ju; Manning, Nick; James Midgley, Gillian Pascall (4 July 2013). International Encyclopedia of Social Policy (अंग्रेज़ी में). Routledge. पृ॰ 1866. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-1-136-61003-5.
  6. Charter of Fundamental Rights of the European Union, Title IV
  7. "Universal Declaration on Bioethics and Human Rights". मूल से 2017-10-10 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2019-05-02.
  8. (वीर गडरिया) पाल बघेल धनगर