समीर गोस्वामी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
समीर गोस्वामी
जन्म 11 जुलाई 1971 (1971-07-11) (आयु 48)
छतरपुर, भारत
आवास छतरपुर ,भारत
राष्ट्रीयता भारतीय
शिक्षा प्राप्त की शासकीय पॉलीटेक्निक नौगाँव, मॉडल बेसिक स्कूल, छतरपुर
व्यवसाय लेखक कहानी वाचक
प्रसिद्धि कारण कहानी सुनो
धार्मिक मान्यता हिन्दू
जीवनसाथी दर्शना गोस्वामी
बच्चे आत्री, मैत्री
पुरस्कार Apple iTunes का 2018 में सर्वश्रेष्ठ पॉडकॉस्ट [1][2][3]

समीर गोस्वामी (अंग्रेज़ी: Sameer Goswami) एक कहानी वाचक, कहानी लेखक, पॉडकॉस्टर और यूट्यूबर हैं।[4][5]

प्रारंभिक जीवन और शिक्षा[संपादित करें]

समीर गोस्वामी का जन्म 11 जुलाई 1971 को मध्यप्रदेश के छतरपुर ज़िले में हुआ। उनके पिता अनंतराम गोस्वामी छतरपुर के ही बूदौर गाँव के रहने वाले व नगर पालिका में शासकीय कर्मचारी थे। माता विमला गोस्वामी गृहणी के साथ साथ भारती बाल मंदिर में शिक्षिका थीं। समीर गोस्वामी अपने तीन भाई बहनो में सबसे बड़े हैं उनसे छोटी एक बहिन तनु शर्मा हैं और सबसे छोटे भाई अबीर गोस्वामी हैं। उनके पिता समीर के जन्म के तुरंत बाद गाँव से छतरपुर ज़िला आ गये जहाँ पर उनका लालन पालन हुआा।

समीर गोस्वामी की प्राथमिक शिक्षा भारती बाल मंदिर, छतरपुर में उसके बाद कक्षा 8 तक की शिक्षा मॉडल बेसिक स्कूल, छतरपुर और उच्चतर शिक्षा शासकीय हायर सेकेंडरी स्कूल नं॰ 1 से हुई इसके उपरांत समीर गोस्वामी ने शासकीय पॉलीटेक्निक, नौगाँव से सिविल अभियांत्रिकी में डिप्लोमा हासिल किया। इन्होने अपनी स्नातक की पढ़ाई स्वाध्यायी छात्र के रूप में महाराजा कॉलेज, छतरपुर से पूरी की।

पेशा[संपादित करें]

समीर गोस्वामी ने आकाशवाणी छतरपुर में 1995 बतौर नाट्य कलाकार के रूप में काम करना शुरु किया उसके उपरांत वर्ष 2005 में उन्होने आकाशवाणी छतरपुर में ही नैमेत्तिक उद्घोषक के रूप में अपनी सेवाऐं देना शुरु की। पेशे से समीर गोस्वामी एक व्यवसाई हैं।

व्यक्तिगत जीवन[संपादित करें]

समीर गोस्वामी का विवाह वर्ष 1999 को दर्शना गोस्वामी के साथ हुआ जो कि स्वयं आकाशवाणी छतरपुर में नैमेत्तिक उद्घोषक हैं व गृहिणी हैं। इनके दो पुत्रियाँ हैं आत्री और मैत्री।

कहानी वाचन[संपादित करें]

समीर गोस्वामी ने सन 2016 में प्रेमचंद की लिखी कहानी जुर्माना से कहानियों का वाचन शुरु किया धीरे धीरे शौक़ से किया गया ये काम जुनून बन गया और इसके बाद इन्होने प्रेमचंद की सारी कहानियों को ऑडियो बुक के रूप में परिवर्तित कर दिया। इसके बाद इस काम को आगे बढ़ाने के लिये इन्होने अपने पॉडकास्ट का नाम कहानी सुनो रखा जिसमें अन्य लेखकों की कहानियों के वाचन का काम शुरु किया गया है।

पहचान[संपादित करें]

समीर गोस्वामी को पहचान तब मिली जब इनके पॉडकास्ट को एप्पल आईट्यून (अंग्रेज़ी: Apple iTunes) ने वर्ष 2018 के सर्वश्रेष्ठ पॉडकास्टों में चुना।

बाह्य कड़ियाँ[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]