समीक्षात्मक विधि अध्ययन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ

समीक्षात्मक विधि अध्ययन (Critical legal studies (CLS)), समीक्षात्मक सिद्धान्त का एक सम्प्रदाय (स्कूल) है जिसका विकास १९७० के दशक में संयुक्त राज्य अमेरिका में हुआ था। इस सम्प्रदाय का मानना है कि सभी कानून समाज को यथास्थिति को बनाये रखने के लिये बनाये गये हैं और ये कानून समाज के सीमान्त समूहों के विरुद्ध पक्षपातपूर्ण होते हैं।