सचिव

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

हिन्दू राजाओं के इसी कार्यालय प्रधान को सचिव कहा जाता था। मराठा साम्राज्य के दफ़तरों (कार्यालय के कर्मचारियों) को सचिव कहते थे।

आजकल किसी बड़े अधिकारी या विभाग का वह व्यक्ति जो अभिलेख आदि सुरक्षित रखता हो। और मुख्य रूप से पत्र व्यवहार और गोपनीय कार्य करता हो, संस्था कानून आदि की व्यवस्था करता हो। (सेक्रेटरी) विशेष—प्राचीन भारत में, मंत्री और सचिव प्रायः समानार्थक शब्द माने जाते थे, परंतु आजकल सचिव से मंत्री पद भिन्न होता है। मंत्री का काम मंत्रणा या परामर्श देना होता है। परंतु सचिव को कोई ऐसा अधिकार नहीं होता है। और इसमें बहुत सी बाते गलत नहीं बिलकुल सही कही जाती है ये एक अच्छे सचिव के गुण है।