संगीता देवी हत्या कांड

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

असम के लखीमपुर जिले में होनेवाली इस हत्या के मामले को पहले एक बलात्कार का मामला समझा गया था। इस मामले में एक 31 वर्षीय महिला संगीता देवी जो एक वैवाहित नारी थी और अपनी लड़की को स्कूल से लाने के लिए ऑटो-रिक्शा में प्रवेश कर चुकी थी, अपराध का शिकार बनी। वाहन में सवार चालक और उसके साथी ने मौके का गलत फ़ायदा उठाकर उसे मार पीटकर चलते हुए ऑटो-रिक्शा से बाहर फेंका था। ज़मीन पर गिरते ही महिला का स्वर्गवास हो गया था।[1]

प्रतिक्रिया[संपादित करें]

इस घटना के विरोध में अखिल असम विद्यार्थी संघ और महिला संगठनों ने हज़ारो की संख्या में व्यापक प्रदर्शन किये थे।[1]

हत्या का कारण[संपादित करें]

बितोनी शर्मा, जो उस महिला का पति और स्थानीय भारतीय जनता पार्टी के युवा मोर्चा के नेता थे, ने बलातकार की बात को बिलकुल ही खारिज कर दिया। पुलिस के अनुसार पीड़ित महिला सहारा चिट फ़ंड से जुड़ी हुई थी। तहकीकात के अनुसार संगीता देवी के अवैध सम्बंध राजु चेतिया नामक व्यक्ति के साथ थे और यही उसकी हत्या का कारण बना।[2]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Assam erupts in anger against Lakhimpur gang rape". Times of India. मूल से 1 दिसंबर 2013 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 18 फ़रवरी 2014.
  2. "The Assam "gangrape" that was not". इंडिया टुडे. मूल से 22 फ़रवरी 2014 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 18 फ़रवरी 2014.