संकेत

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

इलेक्ट्रॉनिकी एवं संकेत प्रसंस्करण के सन्दर्भ में, संकेत (signal) से आशय किसी परिघटना से सम्बन्धित सूचना से है। उदाहरण के लिए, किसी विद्युत इस्तरी (प्रेस) में लगा हुआ द्विधात्विक स्ट्रिप एक संकेत प्रदान करती है कि इस्तरी का तापमान एक सीमा से अधिक है या कम। इसी संकेत के आधार पर उस इस्तरी की विद्युत सप्लाई को चालू या बन्द किया जाता है ताकि इस्तरी का ताप एक सीमा के अन्दर (अर्थात न बहुत कम, न बहुत अधिक) बनाए रखा जा सके। इसी प्रकार, टीवी का रिमोट एक संकेत पैदा करता है और उसे टिवी की ओर भेजता है जिससे टिवी के चैनेल, ध्वनि की तीव्रता आदि को नियन्त्रित किया जाता है।

संकेत मोटे तौर पर दो रह के होते हैं,

  • (१) अनुरूप संकेत या एनालॉग संकेत -- किसी तापयुग्म से प्राप्त वोल्टता एक एनालॉग संकेत है जो तापमान की सूचना देती है।
  • (२) अंकीय संकेत या डिजिटल संकेत -- किसी रेफ्रिजिरेटर में स्थित द्विधात्विक स्ट्रिप (बाइमेटैलिक स्ट्रिप) से एक डिजिटल संकेत मिलता है जिसका उपयोग फ्रिज को ठण्दा करने वाली प्रणाली की विद्युत शक्ति को बन्द या चालू करने के लिए किया जाता है।

संचार, संकेत प्रसंस्करण और सामान्य रूप से विद्युत इंजीनियरी के सन्दर्भ में समय के साथ परिवर्तनशील या अवकाश के साथ परिवर्तनशील (spatial-varying) कोई भी राशि संकेत (signal) कहलाती है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]