श्रेणी:महाराष्ट्र के लोक नृत्य

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

कैपतनृत्य

महाराष्ट्र राज्य मे पशुपालन/भेड बकरिया संभालनेवली धनगर नामक एक जमात है. यह जमात बिरोबा को अपने दैवत मानते है, और बिरोबा को कैलासपती भगवान शंकर का अवतार समजते है. इस कैलासपती के अवतार बिरोबा की पूजा के अवसर पर जो नृत्य करते है, उसे कैपत नृत्य कहते है. उसको गजनृत्य भी बोलते है. ये नृत्य लोककला देश के पहले प्रधान पं. जवाहरलाल नेहरू जी ने 1958 मे नयी दिल्ली मे सन्मानित किया है और ये कला दो बार विदेश मे पेश किया है|

"महाराष्ट्र के लोक नृत्य" श्रेणी में पृष्ठ

इस श्रेणी में निम्नलिखित 11 पृष्ठ हैं, कुल पृष्ठ 11