शिशापांगमा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
शिशापांगमा
Shishapangma / ཤིས་ས་སྤང་མ།
Shishapangma.jpg
नेपाल में उड़ते विमान से शिशापांगमा (बाई ओर)
उच्चतम बिंदु
ऊँचाई8,027 मी॰ (26,335 फीट) [1][2][3][4]
14वाँ सर्वोच्च
उदग्रता2,897 मी॰ (9,505 फीट) [5]
111वाँ सर्वाधिक
एकाकी अवस्थिति91 किलोमीटर (299,000 फीट)
सूचीयनआठ हज़ारी
चरम उदग्र
निर्देशांक28°21′08″N 85°46′47″E / 28.35222°N 85.77972°E / 28.35222; 85.77972निर्देशांक: 28°21′08″N 85°46′47″E / 28.35222°N 85.77972°E / 28.35222; 85.77972[6]
भूगोल
शिशापांगमा की तिब्बत के मानचित्र पर अवस्थिति
शिशापांगमा
शिशापांगमा
तिब्बत
अवस्थितिन्यलाम ज़िला, शिगात्से विभाग, तिब्बत
मातृ श्रेणीलांगतांग हिमाल, हिमालय
आरोहण
प्रथम आरोहण2 मई 1964
सरलतम मार्गहिम/बर्फ़ की चढ़ाई

शिशापांगमा (अंग्रेज़ी: Shishapangma, तिब्बती: ཤིས་ས་སྤང་མ།), जो गोसाईन्थान (Gosainthān) भी कहलाता है, हिमालय का एक 8,027 मीटर (26,335 फ़ुट) ऊँचा पर्वत है। यह तिब्बत के शिगात्से विभाग के न्यलाम ज़िले में स्थित है और नेपालकी सीमा से ५ किमी दूर है। तिब्बत पर चीन का नियंत्रण है और चीन ने उसे बाहरी विश्व से बहुत देर तक बंद रखा था जिस कारणवश यह विश्व का अंतिम आठ हज़ारी पर्वत था जिसे मानवों द्वारा चढ़ा गया। शिशापांगमा विश्व का १४वाँ सबसे ऊँचा पर्वत है और हिमालय के जुगल हिमाल नामक भाग में स्थित है, जिसे कभी-कभी लांगतांग हिमाल का हिस्सा माना जाता है।

नामार्थ[संपादित करें]

तिब्बती भाषा में "पांगमा" का अर्थ "मर्ग" (घास का मैदान) और "शिशा" या "चिसा" का अर्थ "पर्वतश्रेणी" है, यानि "शिशापांगमा" का अर्थ "मर्ग के ऊपर खड़ा पर्वत" है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Shishapangma". Peakbagger.com. अभिगमन तिथि 2014-08-24.
  2. "青藏高原的伟大崛起". China National Geographic. October 2009. अभिगमन तिथि 2014-08-24.
  3. "Shisha Pangma". 8000ers.com. 13 February 2008. अभिगमन तिथि 2014-08-24.
  4. "Shisha Pangma". summitpost.org. Mar 7, 2007. अभिगमन तिथि 2014-08-24.
  5. "High Asia II: Himalaya of Nepal, Bhutan, Sikkim and adjoining region of Tibet". Peaklist.org. अभिगमन तिथि 2014-05-29.
  6. "Shisha Pangma on Peakware". अभिगमन तिथि 16 March 2010.