शनि की ढैया

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

भारतीय फलित ज्योतिष के अनुसार जब गोचर में शनि किसी राशि से आठवें भाव में होता है तब ढैय्या लगता है। आमतौर पर ढईया को अशुभ फलदायी कहा गया है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]