वीके शशिकला

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
वीके शशिकला

अंतरिम महासचिव
पद बहाल
31 दिसंबर 2016 – 17 /02/2017

जन्म 1957[1]
थिरुथुरईपूंडी ,तंजौर ,तमिलनाडु भारत[1]
राजनीतिक दल ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम
जीवन संगी एम.नटराजन
निवास वेद निलयम, 81/36, पोएस गार्डन, चेन्नई-600 086
धर्म थेवर, हिंदू

वीके शशिकला तमिलनाडु की महिला है। वर्तमान मुख्यमंत्री ओ. पन्नीरसेल्वम ने स्तीफा देकर शशिकला के नाम का प्रस्ताव कर दिया जिसे सर्वसम्मति से स्वीकार किया गया।[1] आय से अधिक संपत्ति केस में शशिकला दोषी, सुप्रीम कोर्ट ने सुनाई 4 साल की सजा; अब नहीं बन सकेंगी तमिलनाडु की सीएम।[1][2]

जन्म[संपादित करें]

शशिकला का जन्म चेन्नई से 330 किलोमीटर दूर तमिलनाडु राज्य में स्थित तंजौर जिले के थिरुथुरईपूंडी में 1957 में हुआ था। इनकी माता का नाम कृष्णावेणी और पिता नाम विवेकानंदन है।

व्यक्तिगत जीवन[संपादित करें]

इनका विवाह तमिलनाडु सरकार में पीआरओ रहे एम.नटराजन से हुआ था।[1] शशिकला तीन दशक तक तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता की अभिन्न सहेली रही। प्रारम्भ में यह मुख्यमंत्री जयललिता के कार्यक्रमों में फोटोग्राफी का कार्य करती थी और यहीं से जयललिता की ख़ास सहेली बन गई। जयललिता के संपर्क में आने पूर्व शशिकला फोटोग्राफी का स्टूडियो चलाती थी।तथा शादी एवम समारोहों में फोटोग्राफी करती थी। दिनांक १९ मार्च २०१८ को शशिकला के पति मरुथप्पा नटराजन का निधन हो गया। [3]

राजनीतिक जीवन[संपादित करें]

31 दिसंबर 2016 को जयललिता के निधन के पश्चात् शशिकला ऑल इंडिया अन्ना द्रविड़ मुनेत्र कड़गम की महासचिव निर्वाचित हुई।[4] शशिकला तमिलनाडु में चिनम्मा (मौसी ) के नाम से जानी जाती है। सक्रिय राजनीति में शशिकला का प्रवेश 31 दिसंबर 2016 से प्रारम्भ हुआ।आय से अधिक संम्पत्ति के अपराध में शशिकला को ४ वर्ष कैद की सजा के बाद 17 फरवरी 2017 को एआईएडीएमके के प्रेसिडियम चेयरमैन ई. मधुसूदन ने वी.के. शशिकला को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से बाहर कर दिया है।[5]

आय से अधिक संपत्ति प्रकरण[संपादित करें]

आय से अधिक संपत्ति के प्रकरण में शशिकला को उच्चतम न्यायालय द्वारा 4 वर्ष की सजा सुनाये जाने पर शशिकला ने 15 फरवरी 2017 को बेंगलुरु ट्रायल कोर्ट में आत्म समर्पण कर दिया जहाँ उन्हें कैदी संख्या 10711 आवंटित की गयी। [6] साथ ही उनपर दस करोड़ रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है[2]

  • बेंगलुरु सेंट्रल जेल में शशिकला की पहिचान कैदी संख्या ९४३५ है। जेल में शशिकला को मोमबत्ती बनाने का काम दिया गया है। [6]

सन्दर्भ[संपादित करें]