"तियाँ शान" के अवतरणों में अंतर

Jump to navigation Jump to search
842 बैट्स् जोड़े गए ,  9 वर्ष पहले
सम्पादन सारांश रहित
[[चित्र:Peak_of_Khan_Tengri_at_sunset.jpg|thumb|सूर्यास्त के वक़्त ख़ान तंग्री की चोटी, बवक़्त ग़ुरूब-ए-आफ़ताब]]
'''तियान शान''' (<small>[[अंग्रेज़ी]]: Tian Shan या Tien Shan; [[मंगोल भाषा|मंगोल]]: Тэнгэр уул, तेंगेर उउल; [[उइग़ुर भाषा|उइग़ुर]]: {{Nastaliq|ur|تەڭرى تاغ}}, तेन्ग्री ताग़; [[चीनी भाषा|चीनी]]: 天山, तियान शान</small>) [[मध्य एशिया]] का एक [[पहाड़ी सिलसिला]] है।
'''तियाँ शान''' (अंग्रेज़ी: Tian Shan या Tien Shan) पश्चिम एशिया का एक पहाड़ी सिलसिला है। ये सिलसिला [[सहराए टकला मकान]] के शुमाल और मग़रिब में [[क़ाज़क़सतान]], [[करग़ज़स्तान]] और [[चीन]] के मग़रिबी सूबा [[सिंकियांग]] की सरहद पर वाक़्य है। मग़रिब में ये [[सिलसिला कोह पामीर]] से मुंसलिक है।
 
इस सिलसिले की सब से बुलंद चोटी [[जीनगश चोको सौ]] (बुलंदी 4148 मीटर यानी 13609 फुट) है जिसे अंग्रेज़ी में Victory Peak कहा जाता है। ये करग़ज़स्तान और चीन की सरहद पर [[उसेक कोल झील]] के जनूब मग़रिब में वाक़्य है। दूसरी बलंद तरीन चोटी [[ख़ान तंग्री]] है जो 7010 मीटर बुलंद है।
==विवरण==
इस सिलसिला कोह से निकलने वाले अहम दरियाओं में [[सैर दरिया]], [[अली दरिया]] और [[तारुम दरिया]] शामिल हैं।
तियान शान पर्वतमाला [[टकलामकान रेगिस्तान]] के उत्तर और पश्चिम में [[क़ाज़क़स्तान]], [[किर्गिज़स्तान]] और [[चीन]] के पश्चिमी सूबे [[शिनजियांग]] की सरहद पर स्थित है। पश्चिम में यह [[पामीर पर्वतमाला]] से मिलती है। क़ाज़क़स्तान और चीन पर स्थित [[इसिक कुल]] झील इसके उत्तर-पूर्व में स्थित है। इस सिलसिले की सब से बुलंद चोटी ४,१४८ मीटर (१३,६०९ फ़ुट) ऊँचा [[जेन्गिश चोकुसु]] (<small>[[अंग्रेज़ी]]: Victory Peak</small>) है। इसकी दूसरी सब से बुलंद छोटी ७,०१० ऊँचा [[ख़ान तंग्री]] (<small>Khan Tengri</small>) है। इस पर्वत शृंखला से उभरने वाले अहम दरियाओं में [[सिर दरिया]], [[इली नदी]] और [[तारिम नदी]] शामिल हैं। इस इलाक़े में पहुंचने वाले पहले [[यूरोप|यूरोपी]] [[पीटर समीनोफ़]] थे जिन्होंने १८५० की दहाई में यहाँ का दौरा किया और तियाँ शान की तफ़सीलात को बयान किया।<ref name="ref46bedip">[http://books.google.com/books?id=HZbOBPoTGfUC The Bradt Travel Guide: Kyrgyzstan], Laurence Mitchell, Bradt Travel Guides, 2008, ISBN 9781841622217</ref>
इस इलाक़े में पहुंचने वाले अव्वलीन योरपी बाशिंदे [[पीटर समीनोफ़]] थे जिन्हों ने [[1850ई.]] की दुहाई में यहां का दौरा किया और तियाँ शान की तफ़सीलात को ब्यान किया।
 
==इन्हें भी देखें==
*[[टकलामकान रेगिस्तान]]
*[[सिर दरिया]]
*[[इसिक कुल]]
*[[पामीर पर्वतमाला]]
 
==सन्दर्भ==
<small>{{reflist|2}}</small>
 
[[श्रेणी:पर्वतमाला]]
[[श्रेणी:मध्य एशिया]]
 
[[az:Tyan-Şan]]

दिक्चालन सूची