सदस्य योगदान

Jump to navigation Jump to search
योगदान के लिये खोजविस्तार करेंछोटा करें
⧼contribs-top⧽
⧼contribs-date⧽

  • 10:19, 21 सितंबर 2020 अन्तर इतिहास -259 कायस्थलेकिन शिक्षा और उनके द्वारा किए गए आर्थिक विकास ने उन्हें कर्मकांडी ब्राह्मणों से अलग होने का विचार दिया और जिससे भूमिहार ब्राह्मणों की तरह ही इन्होने भी अपने को ब्राह्मण के कर्मकांड कर्म से अलग कर लिया और इस तरह महत्वपूर्ण प्रशासनिक पदों को प्राप्त करने की इच्छा के कारण कायस्थ जाति का उदय हुआ | टैग: यथादृश्य संपादिका Reverted