विनोद विप्लव

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

विनोद विप्लव (अंग्रेजी Vinod Viplav) हिन्दी के प्रमुख लेखक और कहानीकार हैं।[1][2] उन्होंने महान गायक मोहम्मद रफी की पहली जीवनी ‘‘मेरी आवाज सुनो’’ के नाम से लिखी थी जो 2007 में प्रकााशित हुई थी और संगीत प्रेमियों में काफी आधिक लोकप्रिय हुई।[3][4] यह पुस्तक मलयालयम[5] और उर्दू में भी प्रकाशित हो चुकी है। उन्होंने ट्रेजडी किंग दिलीप कुमार, भारतीय सिनेमा के सबसे बड़े शो मैन माने जाने वाले अभिनेता-निर्माता और निर्देशक राजकपूर और हरफनमौला अभिनेता देवानंद की जीवनी लिखी हैं। सिनेमा की प्रमुख हस्तियों पर ‘हिन्दी सिनेमा के 150 सितारे’ नामक उनकी पुस्तक प्रभात प्रकाशन से प्रकाशित हुई है।[6] मोहम्मद रफी पर द्विभाषिक पुस्तक ‘रफी की दुनिया/द वर्ल्ड आफ रफी (The World of Rafi) का भी संकलन- संपादन किया है।[7][8]

आरंभिक जीवन और शिक्षा[संपादित करें]

विनोद विप्लव का जन्म 5 नवम्बर, 1963 को बिहार के नालंदा जिले के जक्की ग्राम में हुआ।[1] उनकी स्कूली शिक्षा राजगीर और बिहार शरीफ में हुई। उन्होंने बिहार शरीफ के किसान कालेज से विज्ञान में इंटरमीडियट किया तथा बिहार शरीफ के अल्लामा इकबाल महाविद्यालय से विज्ञान में स्नातक किया। इसके बाद भारतीय जनसंचार संस्थान (नई दिल्ली) से 1988 में पत्रकारिता में स्नातकोत्तर डिप्लोमा तथा हिमाचल प्रदेश यूनिवर्सिटी से राजनीति विज्ञान में स्नातकोत्तर किया।[9]

प्रकाशन एवं लेखन कार्य[संपादित करें]

विनोद विप्लव ने 1989 में भारत की प्रमुख संवाद समिति यूनाइटेट न्यूज आफ इंडिया में उपसंपादक के तौर पर काम करना शुरू किया जहां उन्होंने समाचार संपादक और विशेष संवाददाता के रूप में भी काम किया। विनोद विप्लव हिन्दी के प्रमुख लेखक और कहानीकार हैं।[10] उन्होंने महान गायक मोहम्मद रफी की पहली जीवनी ‘‘मेरी आवाज सुनो’’ के नाम से लिखी थी। [4]इसका पहला संस्करण 2007 में तथा दूसरा संस्करण 2008 में प्रकााशित हुआ। यह पुस्तक मलयालयम[5] और उर्दू में भी प्रकाशित हो चुकी है। उन्होंने ट्रेजडी किंग दिलीप कुमार, भारतीय सिनेमा के सबसे बड़े शो मैन माने जाने वाले अभिनेता-निर्माता और निर्देशक राजकपूर और हरफनमौला अभिनेता देवानंद की जीवनी लिखी हैं। सिनेमा की प्रमुख हस्तियों पर ‘हिन्दी सिनेमा के 150 सितारे’ नामक उनकी पुस्तक प्रभात प्रकाशित हुई है। मोहम्मद रफी पर द्विभाषिक पुस्तक ‘रफी की दुनिया/द वर्ल्ड आफ रफी का भी संकलन- संपादन किया है। सिनेमा के अलावा उन्होंने स्वास्थ्य के क्षेत्र में भी काम किया है। आर्थराइटिस रोग की जागरूकता के लिए स्थापित स्वयंसेवी संस्था — आर्थराइटिस केयर फाउंडेशन के अध्यक्ष हैं। [11] स्वास्थ्य विषयों पर उनकी कई पुस्तकें प्रकाशित, जिनमें ‘चिकित्सा विज्ञान से नई आशाएँ’, ‘मानसिक रोग : कारण एवं बचाव’[12], ‘कमर दर्द : कारण एवं बचाव’, ‘हृदय रोग : कारण एवं बचाव’, ‘फैमिली हेल्थ गाइड’ और ‘खुशहाल बचपन’ प्रमुख हैं। उन्होंने स्वास्थ्य पत्रिका हेल्थ स्पेक्ट्रम का संपादन एवं प्रकाशन किया है। उन्होंने कई कहानियां भी लिखी और उनका पहला कहानी संग्रह ‘विभव दा का अंगूठा’ 1996 में दिल्ली सरकार की हिन्दी अकादमी के वित्तीय सहयोग से प्रकाशित हुआ था।[13] पिछले तीन दशक से अधिक समय से लेखन एवं पत्रकारिता में सक्रिय हैं। उनकी सैकड़ों रचनाएं आजकल, वर्तमान साहित्य, नया पथ, धर्मयुग, कादम्बिनी, द पायनियर, नवभारत टाइम्स, दैनिक हिन्दुस्तान, भास्कर, नई दुनिया और जनसत्ता जैसी पत्र-पत्रिकाओं में प्रकाशित हुई हैं। उनकी पहली कहानी ‘अवरोध’ हिन्दी अकादमी (दिल्ली सरकार) से पुरस्कृत हुई थी। उनके अनेक व्यंग्य प्रमुख राष्ट्रीय समाचार पत्रों में प्रकाशित हुए हैं।

प्रमुख कृतियां[संपादित करें]

विभव दा का अंगूठा — कहानी संग्रह

मेरी आवाज सुनो (पार्श्व गायक मोहम्मद रफी की पहली जीवनी)[4]

रफी का संसार/द वल्र्ड आफ रफी[14]

हिंदी सिनेमा के 150 सितारे[3]

दिलीप कुमार-अभिनय सम्राट

सदाबहार देवानंद

चिकित्सा विज्ञान से नई आशाएँ

मानसिक रोग — कारण, बचाव और उपचार[15]

खुशहाल बचपन

संदर्भ[संपादित करें]

  1. "विनोद विप्लव". hindisamay.com.
  2. "हिंदी विद्वान". vishwahindidb.com.
  3. "Vinod Viplav". prabhatbooks.com.
  4. "Talking Rafi". www.thehindu.com.
  5. "മുഹമ്മദ് റഫി: സംഗീതവും ജീവിതവും". /buybooks.mathrubhumi.com.
  6. "हिंदी सिनेमा के १५० सितारे (HINDI CINEMA KE 150 SITARE)". abebooks.com.
  7. "मोहम्म्द रफी के जीवन एवं गीतों पर आधारित 'द वर्ल्ड ऑफ रफी बनाम रफी की दुनिया' पुस्तक का लोकार्पण". siasat.
  8. "The World of Rafi / Rafi ka Sansar : A Voyage into the Melodious World of Mohammad Rafi". www.mohdrafi.com.
  9. "हमारे लेखक". abhivyakti-hindi.org.
  10. "Vinod Viplav Books and Stories". www.matrubharti.com.
  11. "Arthritis Care Foundation NGO Information". www.indiangoslist.com/.
  12. "Manasik Rog : Karan Aur Bachav". books.google.co.in.
  13. "हमारे लेखक". abhivyakti-hindi.org.
  14. "Awaaz ka jaadu". mohdrafi.com.
  15. "Manasik Rog : Karan Aur Bachav (Hindi) Kindle Edition". www.amazon.in.

बाहरी कडियां[संपादित करें]

Shaken up by Shailendra

How inclusive is Indian cinema?

भारत से विनोद विप्लव की कहानी-फ़र्क

Tribute to one of Bollywood's greatest